Thursday, December 13,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

जब सिर्फ एक वोट के कारण गिर गई थी वाजपेयी सरकार 

Publish Date: August 16 2018 02:26:13pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की एनडीए सरकार ने 1996 में विश्वास मत पेश किया था लेकिन उस दौरान सिर्फ एक वोट के कारण वाजपेयी सरकार गिर गई थी। दरअसल, बीजेपी को लोकसभा में 161 सीटें मिली थीं और कांग्रेस को 140 सीटें मिली थीं, लेकिन फ्लोर टेस्ट के दौरान वाजपेयी सरकार के पक्ष में 269 वोट और उनके विरोध में 270 वोट पड़े थे। सरकार के साथ रहे नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद सैफुद्दीन सोज ने बगावत कर एनडीए के खिलाफ वोट कर दिया था।

इस्तीफा देने से पहले अटल बिहारी वाजपेयी ने संसद में यादगार भाषण दिया। उन्होंने लोकसभा में कहा था कि सदन में एक व्यक्ति की पार्टी है, वो हमारे खिलाफ जमघट करके हराने का प्रयास कर रहे हैं। उन्हें पूरा अधिकार है लेकिन वो 'एकला चलो रे' के रास्ते पर चल रहे हैं। ये देश के भलाई के लिए एक हो रहे हैं तो स्वागत है।

वाजपेयी 3 बार प्रधानमंत्री रहे। वह पहली बार 1996 में प्रधानमंत्री बने और उनकी सरकार सिर्फ 13 दिनों तक ही रह पाई। 1998 में वह दूसरी बार प्रधानमंत्री बने, तब उनकी सरकार 13 महीनों तक चली थी। 1999 में वाजपेयी तीसरी बार प्रधानमंत्री बने और 5 सालों का कार्यकाल पूरा किया।
  

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


IND vs AUS: पर्थ टेस्ट के लिए 13 सदस्यीय भारतीय टीम का ऐलान, अश्विन और रोहित बाहर

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत के स्टार ऑफ स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन और बल्लेबाज रोह...

एक दूसरे के हुए कपिल शर्मा और गिन्नी, यहां देखें शादी की PHOTOS

जालंधर (उत्तम हिन्दू न्यूज): स्टार कॉमेडियन कपिल शर्मा ने अपनी प्रेमिका गिन्नी चतरथ से पार...

top