Saturday, December 15,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

कोर्ट के आदेशों का विरोध खतरनाक प्रवृत्ति : हाईकोर्ट

Publish Date: August 18 2018 07:20:06pm

नैनीताल (उत्तम हिन्दू न्यूज): उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने न्यायालय के आदेश के खिलाफ किये जा रहे विरोध प्रदर्शनों को गलत और खतरनाक प्रवृत्ति मानते हुए इसपर गंभीर रूख अख्तियार किया है। न्यायालय ने कहा कि इसकी अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। साथ ही न्यायालय ने राज्य के सभी जिलाधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का आदेश दिया है कि न्यायालयों के आदेश के खिलाफ आगे से विरोध प्रदर्शन, धरना तथा जुलूस न निकालें जाएं। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजीव शर्मा और न्यायामूर्ति लोकपाल सिंह की खंडपीठ ने रामनगर में कार्बेट पार्क में वन्य जीवों और उसके आसपास वन विभाग तथा राजस्व विभाग की जमीन पर हुए अतिक्रमण को लेकर दायर जनहित याचिका की सुनवाई के बाद ये आदेश जारी किये हैं।

खंडपीठ ने निजी होटलों और रिसॉर्टों द्वारा सरकारी भूमि पर किये गये अतिक्रमण के खिलाफ सख्त रूख अख्तियार किया और अतिक्रमणकारियों के खिलाफ 24 घंटे के अंदर एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिये थे। न्यायालय ने कहा कि समाचार पत्रों में छपी खबरों के अनुसार न्यायालय की खबरों के खिलाफ लोगों द्वारा प्रदर्शन और जुलूस निकाला गया है। यह खतरनाक प्रवृत्ति है जिसकी अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। खंडपीठ ने कहा कि पीडि़त व्यक्ति को कोर्ट का सहारा लेने और अपनी बात रखने का अधिकार है।
 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पर्थ टेस्ट : दूसरे दिन का खेल खत्म, भारत का स्कोर- 173/3

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भारत ने यहां पर्थ स्टेडियम में आस...

Isha weds Anand: मेहमानों की खातिरदारी करते दिखे अमिताभ, आमिर और शाहरूख, देखें तस्वीरें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): देश के मशहूर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी ने हाल ...

top