Friday, December 14,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

अब साल में एक बार NEET और दो बार होगा JEE, जानिए नए नियम

Publish Date: August 22 2018 09:42:40am

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज)- मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए आवश्यक नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) का आयोजन अब साल में एक बार ही किया जाएगा। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने दिसंबर 2018 और मई 2019 के बीच मंगलवार को होने वाली परीक्षाओं का शेड्यूल जारी किया, जिसमें यह कहा गया कि एनईईटी परीक्षा 5 मई 2019 को केवल पेन-एंड-पेपर मोड में आयोजित की जाएगी।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी) मंत्रालय ने स्वास्थ्य मंत्रालय की सिफारिशों के बाद मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम (NEET) ऑनलाइन और साल में दो बार आयोजित करने की अपनी योजना को रद्द कर दिया है। राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी ने अनुरोध का कारण न बताते हुए कहा, ''नीट एग्जाम पैटर्न में बदलाव स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुरोध पर किया गया, जो एग्जाम का पैटर्न पिछले साल के जैसा ही रखना चाहते थे।"

इससे पहले मंत्रालय ने नीट और जेईई को साल में दो बार और कंप्यूटर बेस्ड मोड में करवाने का फैसला किया था। नीट के साल में एक बार होने के साथ ही परीक्षा का आयोजन भी पेन और पेपर के माध्यम से करवाया जाएगा। हालांकि कुछ दिन पहले ही मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा था कि पहले साल में उम्मीदवार पेन और पेपर का इस्तेमाल कर सकेंगे और पेपर ऑनलाइन नहीं होंगे जबकि पेपर कंप्यूटर पर अपलोड किए जाएंगे।

जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य मंत्रालय ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय को लिखकर साल में दो बार नीट आयोजित करने पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि साल में दो बार परीक्षा छात्रों पर अधिक दबाव बना सकती है। इसमें ग्रामीण इलाकों में रहने वाले छात्रों के बारे में भी चिंता जताई गई कि अगर परीक्षा केवल ऑनलाइन मोड में आयोजित की गई तो इससे ग्रामीण छात्रों को परेशानी हो सकती है। कुछ छात्रों ने दो बार प्रवेश परीक्षा आयोजित करने के फैसले का स्वागत किया था, तो वहीं कई अन्य लोगों ने चिंताएं जताई थीं कि साल में दो बार परीक्षा आयोजित करने का मतलब प्रश्न पत्रों के आठ अलग-अलग सेट होंगे। परीक्षा को पूरी तरह से ऑनलाइन करने के फैसले पर चिंता जताते हुए कहा गया कि चिकित्सा शिक्षा में प्रवेश के कई आवेदक गांवों से आते हैं, जहां कंप्यूटर साक्षरता कम है, जिसकी वजह से ग्रामीण छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

एनटीए ने कहा, ''एनईईटी परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन 1 नवंबर से 30 नवंबर तक होगा, जबकि एडमिट कार्ड 15 अप्रैल, 2019 से डाउनलोड किये जा सकेंगे। परीक्षाएं आयोजित होने के एक महीने बाद 5 जून, 2019 को रिजल्ट घोषित किए जाएंगे।''

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


Ind vs Aus: कोहली का शानदार कैच देखकर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी भी रह गए दंग

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत औऱ ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टैस्ट खेला जा रहा है। जिस...

सामने आया नीता अंबानी का 33 साल पुराना Bridal Look, आप भी देखें तस्वीरें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): 12 दिंसबर को देश के मशहूर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अ...

top