Wednesday, December 12,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

राफेल डील  : अनिल अंबानी के नोटिस पर जयवीर शेरगिल का जवाब- पंजाबी हूं, डरूंगा नहीं 

Publish Date: August 22 2018 03:04:09pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : राफेल डील पर लग रहे आरोपों के बीच अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस ने कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल को लीगल नोटिस भेजकर चुप रहने की चेतावनी दी है। कंपनी ने कड़े शब्दों में कहा है कि शेरगिल उन्हीं बातों को बोलें जिनका उनके पास प्रमाण हो वरना उन्हें इसका हर्जाना भुगतना पड़ेगा। यह नोटिस रिलायंस इंफ्रा, रिलायंस डिफेंस और रिलायंस एयरोस्ट्रक्चर की तरफ से भेजा गया है। अनिल अंबानी के नोटिस के जवाब में जयवीर शेरगिल ने कहा है कि वो कांग्रेस के सैनिक हैं और उन्हें पंजाबी होने पर गर्व है। वह ऐसे नोटिसों से डरने वाले नहीं हैं। देश के करदाता जानना चाहते हैं कि देश को राफेल सौदे में आखिर क्यों 42 हजार करोड़ रुपये अतिरिक्त देने पड़े हैं। शेरगिल ने कहा कि वह नोटिस का जवाब नहीं देंगे बल्कि राफेल डील में हुए घोटाले को लेकर खुलासे करते रहेंगे। दरअसल जयवीर शेरगिल कांग्रेस की उस कमेटी के सदस्य भी हैं जिसके जिम्मे राफेल डील को लेकर पूरे देश में प्रैस कांफ्रेंस करके मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने की जिम्मेवारी है।  

ये लिखा है नोटिस में 
नोटिस में कहा गया है कि अभिव्यक्ति और बोलने की स्वतंत्रता का मतलब ये नहीं है कि आप गैर जिम्मेदार तरीके से व्यवहार करें। इसका मतलब ये नहीं है कि आप अपने राजनीतिक हितों के अनुरूप झूठी, भ्रामक और बेतुकी बयानबाजी करें। बताया जाता है कि रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर की ओर से भेजे गए नोटिस में कई कांग्रेस नेताओं के नाम शामिल हैं, जिनमें रणदीप सुरजेवाला, अशोक चव्हाण, संजय निरुपम, अनुग्रह नारायण सिंह प्रमुख हैं। इनके अलावा ओमन चांडी, शक्तिसिंह गोहिल, अभिषेक मनु सिंघवी, सुनील कुमार जाखड़ और प्रियंका चतुर्वेदी को लेकर कहा है कि वो भी रिलायंस के खिलाफ गलत, झूठे, भ्रामक बयान देने में शामिल हैं। 

राहुल गांधी भी लगा चुके हैं आरोप 
उल्लेखनीय है कि इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर अनिल अंबानी की कंपनी को हजारों करोड़ रुपए का फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया था लेकिन इस मुद्दे पर बिजनेसमैन अनिल अंबानी ने राहुल गांधी को एक पत्र लिखकर अपने ऊपर लगे आरोपों का जवाब दिया था। अनिल अंबानी ने अपने पत्र में कहा था कि कुछ निहित स्वार्थी तत्वों और कॉरपोरेट प्रतिद्वंद्वियों ने कांग्रेस को गलत जानकारी देकर गुमराह करने की कोशिश की है। अनिल अंबानी ने कहा था कि सभी आरोप गलत और निराधार हैं। अनिल अंबानी पहले ही कह चुके हैं कि रक्षा मंत्रालय ने रिलायंस समूह की कंपनी को 36 राफेल विमानों का कॉन्ट्रेक्ट नहीं दिया। यह गलत बताया जा रहा है। इसके बाद रिलायंस को हजारों करोड़ का फायदा होने जा रहा है जबकि यह सिर्फ अफवाह है। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पीवी सिंधू की धमाकेदार शुरुआत, पूर्व चैंपियन यामागुची को दी मात

गुआंगझू (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत की स्टार महिला शटलर पीवी स...

Kapil Sharma Wedding: बारात लेकर कपिल शर्मा पहुंचे क्लब कबाना

जालंधर (उत्तम हिन्दू न्यूज): कॉमेडियन कपिल शर्मा गिन्नी संग विवाह रचाने के लिए बारात के सा...

top