Tuesday, December 11,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

अब श्रीलंका के रास्ते भारत को घेरने की योजना बना रहा है चीन 

Publish Date: August 25 2018 03:06:36pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : चीन श्रीलंका के रास्ते भारत को घेरने के फिराक में है। बीजिंग श्रीलंका के उत्तरी इलाके में मकान और सड़कों का निर्माण करना चाहता है। इनमें से ज्यादातर गृहयुद्ध के एक दशक के बाद भी बदहाल स्थिति में हैं। बताया जा रहा है कि क्षेत्र में अपना दबदबा बढ़ाने के लिए चीन इस प्रकार के प्रोजेक्ट को अमलीजामा पहनाना चाहता है। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि घर बनाने का प्रॉजेक्ट कहीं भारत के हाथ न लग जाए इसलिए चीन इसे कम कीमत पर भी करने को तैयार है। सब कुछ ठीक रहा तो यस काम का ठेका जल्द चीन को मिल जाएगा।

कोलंबो में चीनी दूतावास के राजनीतिक मामलों के प्रमुख लुओ शोंग ने कहा कि चीन श्रीलंका के उत्तर और दक्षिण में पुनर्निमाण कार्य को लेकर मदद करना चहता है। बता दें कि श्रीलंका सरकार और तमिल अलगाववादी गुट में इसी जगह पर 26 साल तक युद्ध चला है, जो 2009 में एलटीटीई प्रमुख प्रभाकरण की हत्या के बाद खत्म हुआ था। शोंग ने रॉयटर्स से बातचीत में कहा, क्योंकि स्थिति अब बदल चुकी है। हम उत्तर और दक्षिण के दूरस्थ इलाकों में और प्रॉजेक्ट लाना चाहते हैं। यह सब श्रीलंका सरकार और तमिल समुदाय की मदद से करना चाहते हैं।

अप्रैल में, चाइना रेलवे पेइचिंग इंजीनियरिंग ग्रुप कंपनी लिमिटेड 300 मिलियन डॉलर के साथ जाफना में 40 हजार घर बनाने का फैसला लिया था। चीन के एक्सिम बैंक को इसके लिए वित्त पोषण करना था। यह प्रॉजेक्ट उस समय रुक गया जब स्थानीय लोगों ने कंक्रीट की जगह ईंटों से घर बनाने की मांग की। लोगों ने इसके पीछे पारंपरिक आवास का हवाला दिया था। इस कदम से चीन के पुराने प्रतिद्वंद्वी माने जाने वाले भारत को एक मौका नजर आया। क्षेत्रीय तमिल राष्ट्रीय गठबंधन के सदस्य एमए सुमनाथिरन ने कहा कि अथॉरिटी ने हाउसिंग प्रॉजेक्ट के लिए बातचीत की है। भारत ने पहले फेज में 44 हजार घरों का निर्माण किया है। साथ ही पलाले एयरपोर्ट और केनकेसांथुरई हार्बर को पुननिज़्मित करने की योजना बनाई है। 

श्रीलंका के दो सीनियर मंत्रियों ने बताया कि चीन ने घर, सड़क और वॉटर स्टॉरेज भारत से कम कीमत पर बनाने की पेशकश की है। चीन के साथ बातचीत की गंभीरता को देखते हुए एक मंत्री ने नाम न छापने की शर्त पर बताया, वे ग्रामीण इन्फ्रास्ट्रक्चर का काम भी अपने हाथों में लेना चाहते हैं। इसमें सड़क बनाना, वॉटर प्रॉजेक्ट को कम कीमत और कम समय में बनाने की बात कही है। भारत के श्रीलंका के साथ पुराने संबंध हैं। भारत के दक्षिण में स्थित श्रीलंका भारत का पुराना मित्र देश है। श्रीलंका के तमिल समुदाय के लोगों के साथ भारत की संस्कृति भी काफी समान है। तमिल समुदाय के लोग उत्तर और दक्षिणी इलाकों में रहते हैं। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


आईसीसी टेस्ट रैंकिंग : विराट कोहली शीर्ष पर बरकरार, पुजारा चौथे नंबर पर

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): आस्ट्रेलियाई जमीन पर अपनी अगु...

कल प्रेमिका गिन्नी के साथ शादी रचाएंगे कपिल शर्मा, सामने आई प्री-वेडिंग की तस्वीरें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): हास्य अभिनेता-निर्माता कपिल शर्मा कल यानी 12 दिसंबर को अपनी प्...

top