Wednesday, December 12,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

त्रिपुरा सरकार की योजना का असर, गांजा-भांग उगाने वाले छोड़ रहे राज्य 

Publish Date: August 25 2018 04:20:50pm

अगरतला (उत्तम हिन्दू न्यूज) : त्रिपुरा में बहुत से किसान और युवा अपना राज्य छोड़कर काम की तलाश में दूसरे राज्य जाने के लिए मजबूर हो रहे हैं। दरअसल, त्रिपुरा में मुख्यमंत्री बिप्लब देब के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार भांग के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रही है। राज्य सरकार लगातार ही भांग और गांजे को लेकर कठोर होती जा रही है, जिसके कारण इसकी खेती करने वाले किसानों के ऊपर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है। ऐसे में किसान रोजगार की तलाश में त्रिपुरा छोड़कर जाने पर मजबूर हो रहे हैं। 

आपको बता दें कि त्रिपुरा को नॉर्थईस्ट का भांग कॉरिडोर भी कहा जाता है। यहीं से बिहार, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और यहां तक कि बांग्लादेश में भी भांग पहुंचाई जाती है। चुनाव से पहले बीजेपी के विजन डॉक्यूमेंट में यह वादा किया गया था कि ड्रग के व्यापार के खिलाफ सरकार कड़े कदम उठाएगी। 9 मार्च को त्रिपुरा में बीजेपी और आईपीएफटी की सरकार बनने के साथ ही गांजे के व्यापार के खिलाफ कड़ी कार्रवाई शुरू हुई और इसकी खेती करने वाले एवं इसके रोजगार में संलिप्त राज्य छोडऩे के लिए मजबूतर होने लगे। सीएम बिप्लब देब ने कहा था कि त्रिपुरा में पिछले 25 सालों से हर साल एक लाख किलोग्राम भांग का उत्पादन होता है।

उन्होंने पूर्ववर्ती लेफ्ट की सरकार पर आरोप लगाया था कि यहां सरकार द्वारा भांग की खेती को बढ़ावा दिया जाता रहा था, जिसके कारण से यहां के युवा अवैध ड्रग व्यापार की तरफ बढ़ते चले गए। जानकारी में रहे कि मार्च के बाद से करीब पांच महीने के अंदर पुलिस द्वारा लगभग 20,000 किलो गांजा सीज किया जा चुका है। इसे बड़ी कार्रवाई के रूप में देखा जा रहा है। 

राज्य सरकार द्वारा लगातार कड़े कदम उठाए जाने के कारण गांजे पर निर्भर रहने वाले बहुत से परिवारों के ऊपर आफल आ गयी है। रिपोट्र्स के मुताबिक कमलनगर और कमलचौरा के लगभग 80 युवा दूसरी नौकरी की तलाश में चेन्नई और बेंगलुरू जा चुके हैं। एक स्थानीय निवासी का कहना है कि पूर्ववर्ती लेफ्ट सरकार ने कभी भी भांग के उत्पादन के खिलाफ एक्शन नहीं लिया था और इसलिए कई गांव में यह समझा जाता था कि इसका उत्पादन वैध है। बता दें कि त्रिपुरा के कई स्थानों में लोगों द्वारा भांग के उत्पादन को कानूनी मान्यता देने की मांग की जा रही है।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पीवी सिंधू की धमाकेदार शुरुआत, पूर्व चैंपियन यामागुची को दी मात

गुआंगझू (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत की स्टार महिला शटलर पीवी स...

Kapil Sharma Wedding: बारात लेकर कपिल शर्मा पहुंचे क्लब कबाना

जालंधर (उत्तम हिन्दू न्यूज): कॉमेडियन कपिल शर्मा गिन्नी संग विवाह रचाने के लिए बारात के सा...

top