Wednesday, December 12,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

पटना के आश्रय गृह की संवासिन की इलाज के दौरान मौत, 2 लापता

Publish Date: September 01 2018 12:35:50pm

पटना (उत्तम हिन्दू न्यूज) : बिहार की राजधानी पटना के राजीव नगर के आश्रयगृह 'आसरा होम' में एक महिला (संवासिन) की मौत हो गई। वहीं, दो संवासिन लापता बताई जा रही हैं। आश्रय गृह में संवासिनों के गायब होने और मौत होने पर विपक्ष ने सरकार पर निशाना साधा है। 

पुलिस के अनुसार, राजीव नगर स्थित नेपाली नगर के आश्रयगृह के एक संवासिन को इलाज के लिए पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) में भर्ती कराया गया था, जहां शुक्रवार की रात उसकी मौत हो गई। 

पीएमसीएच के अधीक्षक राजीव रंजन प्रसाद ने शनिवार को बताया,"आश्रय गृह में रहने वाली अनामिका (27) को गुरुवार को गंभीर हालत में अस्पताल लाया गया था। उसे सांस लेने में दिक्कत हो रही थी, साथ ही उसके शरीर में खून की कमी थी। शुक्रवार रात उसकी मौत हो गई।" 

इस बीच, यहां से दो संवासिन भी गायब हो गई हैं, जिसकी प्राथमिकी राजीव नगर थाना में दर्ज कराई गई है। राजीव नगर के थाना प्रभारी रोहन कुमार ने बताया कि आश्रयगृह संचालक द्वारा दो महिलाओं के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई गई है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है। उन्होंने कहा कि आश्रयगृह और आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है। 

उल्लेखनीय है कि अगस्त महीने में इस आश्रयगृह में रहने वाली दो महिलाओं की मौत के बाद यह आश्रयगृह चर्चा में आया था। इन दो संवासिनों की मौत के बाद सरकार ने इस गृह को चलाने की जिम्मेवारी स्वयंसेवी संस्था अनुमाया ह्यूमन रिसोर्स फाउंडेशन से वापस ले ली थी। इस मामले में स्वयंसेवी संस्था की संचालिका मनीषा दयाल और सचिव चितरंजन को गिरफ्तार कर लिया गया था। 

इधर, राजद के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने इस मामले को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। 

तेजस्वी ने शनिवार को ट्वीट कर लिखा,"पटना के आसरा गृह कांड में पांच बड़े रंगीन अधिकारी संलिप्त है। नीतीश जी में नैतिक बल नहीं कि लड़कियों की इज्जत से खिलवाड़ करने वाले ऐसे नैतिक भ्रष्ट अधिकारियों को बर्खास्त कर सकें। अगर उन्होंने ऐसा किया तो ये अधिकारी इनका काला चिट्ठा खोल दुशासनी कुर्सी गंगा में फेंक देंगे। समझें।" 

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, "पटना के कुख्यात आसरा आश्रय गृह से दो और लड़कियां गायब। एक की मौत। सुरक्षा बंदोबस्त के बाद कैसे गायब हुई? प्रतीत होता है बेलगाम पुलिस और समाज कल्याण विभाग ने लड़कियों के शोषण और तस्करी का कॉन्ट्रैक्ट लिया हुआ है। चंद दिन पूर्व इसी आसरा गृह की दो युवतियों की संदिग्ध मौत हुई थी।" 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


IPL-12 के लिए होने वाली नीलामी में हिस्सा लेंगे 346 खिलाड़ी

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 1...

MeToo: साजिद खान को IFTDA का बड़ा झटका, 1 साल के लिए किया सस्पेंड

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): यौन उत्पीड़न के आरोप से घिरे सा...

top