Tuesday, May 22,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राजनीति

शिवराज के लिए 'धुंधली इबारत' पढऩे का वक्त

Publish Date: January 21 2018 06:34:04pm

संदीप पौराणिक 
भोपाल (उत्तम हिन्दू न्यूज): लोकतंत्र में मतदाता सबसे ज्यादा ताकतवर होते हैं और उनके इशारों को समझ सत्ताधारी दल आगे का रास्ता तय करता है। मध्य प्रदेश में 20 नगरीय निकायों के चुनाव नतीजों ने भारतीय जनता पार्टी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के लिए साफ नहीं, धुंधली इबारत लिखी है, मगर उसे साफ -साफ पढ़ा जा सकता है। यह इबारत राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को भी चिंता में डालने वाली है। राज्य की सत्ता पर भाजपा 14 वर्षो से काबिज है और मुख्यमंत्री शिवराज 13 वर्षो से सरकार का नेतृत्व कर रहे हैं। भाजपा ने लगातार विधानसभा के दो चुनाव शिवराज की अगुवाई में ही जीते हैं। शिवराज की पहचान समाज के हर वर्ग के लिए काम करने वाले नेता की बनी। लाडली लक्ष्मी से लेकर छात्राओं के लिए साइकिल और छात्रवृत्ति जैसी योजनाओं ने उन्हें विशेष पहचान दिलाई। उसी का नतीजा रहा कि भाजपा लगभग हर चुनाव जीतती रही।

राज्य में 20 नगरीय निकाय के हुए चुनाव में से 19 के नतीजे शनिवार को घोषित हुए। इनमें कांग्रेस और भाजपा 9-9 स्थानों पर जीती, जबकि एक स्थान पर निर्दलीय प्रत्याशी ने बाजी मारी। इतना ही नहीं, पदाधिकारी को वापस बुलाने (राइट टू रिकॉल) में भी भाजपा के दो अध्यक्षों को जनता ने पद से हटाने के लिए मतदान किया। इस तरह भाजपा को कुल पांच स्थानों का नुकसान हुआ है। वहीं, कांग्रेस को दो का फायदा हुआ। भाजपा के अध्यक्ष 12 से घटकर नौ हुए, वहीं दो को जनता ने वापस बुला लिया है। ऐसे में कांग्रेस का हौसला बुलंद होना लाजिमी है।

नगरीय निकाय चुनाव प्रचार पर गौर करें, तो एक बात साफ हो जाती है कि मुख्यमंत्री, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान, संगठन महामंत्री सुहास भगत सहित तमाम मंत्रियों, सांसदों व विधायकों ने कोई कोर कसर नहीं छोड़ी थी। दूसरी ओर, कांग्रेस की ओर से प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ही सक्रिय रहे। इस चुनाव में किसी बड़े नेता, जैसे- कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया, सुरेश पचौरी आदि ने प्रचार नहीं किया। अगर ये सभी नेता प्रचार में जुट गए होते तो भाजपा के लिए नौ सीटें जीतना भी मुश्किल हो जाता। कांग्रेस की इस जीत को यादव, सिंह और सिंधिया ने कार्यकर्ताओं की जीत के साथ मुख्यमंत्री शिवराज से जनता का मोहभंग होने की शुरुआत बताया है। सिंधिया ने कहा, "नगरीय निकायों के चुनाव से शुरू हुआ हमारी जीत का सिलसिला कोलारस व मुंगावली उपचुनाव के बाद आम चुनाव तक जारी रहेगा।" 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9814266688 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


साइना नेहवाल ने पूरा किया खेल मंत्री राठौड़ का चैलेंज, देखें वीडियो

नई दिल्ली (उत्तम हिंदू न्यूज) : फिटनेस को बढ़ावा देने के लिए ...

जीवन के हर रिश्ते को महत्व देती हैं करीना कपूर

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : अभिनेत्री करीना कपूर खान का कहना...

top