Saturday, July 21,2018     ई पेपर
राजनीति

देश की आत्मा है अयोध्या

Publish Date: March 25 2018 02:46:40pm

योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में अपनी सरकार के एक वर्ष पूरे होने पर एक पत्र समूह से बातचीत के दौरान कहा कि उत्तर प्रदेश में सांस्कृतिक धरोहरों के रूप में बड़ी संभावनाएं हैं। अयोध्या, मथुरा और काशी को ही यदि पर्यटन के नजरिए से बढ़ाया जाए तो यह पूरे प्रदेश को बदल देंगे। मुंबई और बैंगलुरू जैसे शहरों से यह आगे निकल जाएंगे। योगी सदन में कहे गए अपने इस वाक्य पर कि 'मैं हिन्दू हूं, ईद नहीं मानता' को अपनी व्यक्तिगत पहचान से जोड़़ते हैं और कहते हैं कि मैं आडंबर नहीं कर सकता। मैं हर धर्म को उसके पर्व व त्योहार मनाने के लिए सुरक्षा-संरक्षा तो दे सकता हूं, लेकिन घर में टीका लगाने के बाद बाहर टोपी नहीं पहन सकता। यह मेरी आस्था का प्रश्न है। मेरा मानना है कि सेक्युलरिज्म सर्व धर्म समभाव का प्रतीक है और हिन्दू से अधिक सेक्युलर कोई नहीं।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वो बात कही है जिसे पिछले सात दशकों की राजनीति में कोई राजनीतिज्ञ कहने की हिम्मत नहीं कर सका। आजादी के बाद राष्ट्र भावना को जागृत करने की कोशिश करने की बजाय धर्म निरपेक्षता के नाम पर भारतीय संस्कृति के प्रति उदासीनता ही दिखाई जाने लगी। भारतीय संस्कृति के केंद्र बिन्दू भगवान शिव, श्रीराम और श्रीकृष्ण से संबंधित स्थानों व शहरों विशेषतया अयोध्या, मथुरा और काशी के प्रति सत्ताधारियों की उदासीनता और तुष्टिकरण की राजनीति के कारण उपरोक्त तीनों शहर और तीनों स्थान आज भी दयनीय अवस्था में ही हैं।
अतीत में विदेशी आक्रमणकारियों ने भारतीय सभ्यता व संस्कृति को कमजोर करने व समाप्त करने के उद्देश्य से ही उन तमाम केंद्र बिन्दुओं जिनसे देश की आन, शान और मान जुड़े थे और जो भारतीयों के लिए सम्मान के तथा आस्था के केंद्र थे, उनको ध्वस्त करने के लिए एक बार नहीं अनेक बार प्रयास किये। लेकिन भारत के बहुमत समाज हिन्दुओं ने अपनी कुर्बानियां देकर उपरोक्त तीनों स्थानों को न केवल बचाए रखा, बल्कि अपने दिलों में इस तरह बसा लिया कि युगों-युगांतरों बाद भी आस्था का दीपक आज भी जल रहा है।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या, मथुरा और काशी को उसका गौरवमय स्थान देने की जो बात कही है वह समय की मांग ही है। देश के हिन्दुओं के लिए अयोध्या, मथुरा और काशी आस्था के केन्द्र बिन्दू हैं, लेकिन इन केन्द्र बिन्दुओं प्रति इसी लिए अतीत में उदासीनता दिखाई गई क्योंकि लक्ष्य हिन्दू समाज में हीन भावना को बनाये रखना था। आज देश में वैचारिक परिवर्तन आ रहा है। देश का बहुमत हिन्दू समाज आज तुष्टिकरण की राजनीति से तंग आ अपने आस्था के केंद्र को भव्यता में देखना चाहता है। लेकिन हिन्दू समाज को उसका हक देने को आज भी एक वर्ग के कुछ लोग तैयार नहीं हैं।
एक वर्ग विशेष के विरोध को देखते हुए ही पिछले दिनों आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर ने कहा था कि अगर अयोध्या विवाद नहीं सुलझा तो देश सीरिया में बदल जाएगा। बड़े आदमी से बड़ी गलती ही होती है। श्री श्री रविशंकर द्वारा प्रकट भाव गलत ही है। अयोध्या तो देश की आत्मा है उसकी आन, शान के लिए पिछली पांच सदियों से हिन्दू लड़ता आया है और आगे भी संघर्ष करता रहेगा।
भगवान राम, कृष्ण और शिव देश के आम जन की नस-नस में बसते हैं। देश की पहचान ही राम, कृष्ण और शिव के साथ है। इस पहचान को मिटाने के लिए आक्रमणकारी सदियों से लगे थे लेकिन मिटा न सके। अब तो देश आजाद है और देश का बहुमत लोकतांत्रिक ढंग से अयोध्या, मथुरा और काशी को देश के ही नहीं विश्व के मंच पर में स्थापित करना चाहता है। दुनिया में जहां कहीं भी भगवान राम, श्रीकृष्ण और भोलेनाथ के भक्त बैठे हैं उन सबकी यही कामना है कि अयोध्या, मथुरा और काशी को भारतीय संस्कृति के केंद्र बिन्दुओं के रूप में संभाला व संवारा जाए।
रामनवमी के इस पावन पर्व पर हिन्दू धर्म में आस्था रखने वालों को प्रण लेना चाहिए कि अयोध्या, मथुरा और काशी को सांस्कृतिक धरोहर के रूप में विकसित करने के लिए प्रदेश और देश की सरकारों का समर्थन करेंगे। श्रीराम और श्रीकृष्ण की जन्मस्थलियों पर भव्य मंदिरों का निर्माण करेंगे। भगवान राम आप को शक्ति दें और आप की सभी कामनाओं को पूरा करें।

रामनवमी पर्व पर एक बार फिर शुभकामनाओं के साथ, जयश्रीराम।


-इरविन खन्ना, मुख्य संपादक, दैनिक उत्तम हिन्दू।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9814266688 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


महिला हॉकी विश्व कप: पहले खिताब के लिए उतरेगी टीम इंडिया 

लंदन(उत्तम हिन्दू न्यूज)- पिछले 13 संस्करणों में विश्व कप की ...

मुश्किलों में फंसे रणबीर कपूर, इस महिला ने ठोका 50 लाख का मुकदमा

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): संजय दत्त की बायॉपिक पर बनी फिल...

top