Sunday, June 24,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राजनीति

'नई राहें-नई मंजिलें'

Publish Date: June 13 2018 11:14:10am

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रदेश पर्यटन विभाग की बैठक में प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में पर्यटन विविधिकरण हेतु 'नई राहें-नई मंजिलें' योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में नये पर्यटक स्थलों को ढूंढने व उन्हें उन्नत करने की बात कही है।
हिमाचल प्रदेश को प्रकृति ने जो दिया है उसकी शब्दों में व्याख्या करना तो मुश्किल है।

प्रकृतिक सुंदरता के लिए हिमाचल प्रदेश देश-विदेश में अपनी विशेष पहचान रखता है, लेकिन आजादी के बाद हिमाचल प्रदेश में पर्यटन स्थलों को उस तरह नहीं विकसित किया गया जिस तरह उन्हें करने की आवश्यकता थी। पिछले दिनों प्रदेश की राजधानी में पानी की किल्लत के कारण स्थानीय लोगों का ही जीना मुश्किल हो गया था। पर्यटकों को शिमला न आने के लिए होटल मालिकों को अपील करनी पड़ी। पानी की तंगी पर काबू पाने के लिए प्रशासन को दिन-रात एक करने पड़े। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के निजी हस्तक्षेप तथा प्रदेश के उच्च न्यायालय की निगरानी व आदेशों के बाद ही स्थिति सामान्य हुई।
 
शिमला के बाद कुल्लु-मनाली, धर्मशाला और चम्बा व मंडी सभी पर्यटकों के आकर्षण के केंद्र हैं। गर्मियों में हजारों की संख्या में देश-विदेश से लोग हिमाचल प्रदेश आते हैं, लेकिन प्रदेश में बुनियादी सुविधाओं की कमी होने के कारण पर्यटकों को आ रही मुश्किलें बढ़ती चला जी रही हैं।

हिमाचल प्रदेश की झोली केवल प्राकृतिक सौन्दर्य से ही नहीं भरी हुई, हिमाचल वासियों की जीवन शैली तथा राष्ट्र के प्रति प्रेम और नम्रता व सादगी के कारण भी पर्यटक प्रदेश को प्राथमिकता देते हैं। प्रदेश के प्रमुख पर्यटक स्थलों पर बढ़ते दबाव के कारण सीजन में अव्यवस्था तक की नौबत आ जाती है। वर्तमान में जयराम ठाकुर की सरकार ने पर्यटक स्थलों पर बढ़ते दबाव व पर्यटकों की बढ़ती मुश्किलों को हल करने के लिए ही 'नई राहें-नई मंजिलें' योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों जो अभी तक अछूते रहे हैं उन्हें ढूंढने की योजना बनाई है।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर अनुसार  राज्य पर्यटन विभाग ने नई योजना 'नई राहें-नई मंजिलें' के अन्तर्गत राज्य में नौ सर्किट तैयार किए हैं। इन सर्किटों में जोगिन्द्रनगर-बरोट-कोठी-कोहर-राजगंगा-बीड़-बिलिंग, सुन्दरनगर-चैल चौक-कामरू नाग-शिकारी देवी-जंजैहली-देवी-जंजैहली, शिमला-खड़ापत्थर-रोहडू-संदासु-लरोट-चांशल-डोडरा-क्वार, धोलाधार सर्किट, बुद्धिस्ट सर्किट, भाखड़ा-बिलासपुर-सुन्दरनगर-जोगिन्द्रनगर-पौंगडैम, सोलन-हाब्बण-राजगढ़-शिलाई, मनाली-रोहतांग-तान्दी-उदयपुर-किलाड़ तथा नारकण्डा-बागी-खदराला-चिनी (कल्पा)-पांगी सर्किट शामिल हैं।

इनमें से तीन सर्किटों की पहचान के उपरान्त पर्यटन, लोक निर्माण, वन, भाषा, कला एवं संस्कृति विभागों के अधिकारियों की एक समिति चयनित सर्किटों का दौरा करेगी और स्थानीय पंचायतों तथा हितधारकों से परामर्श के उपरांत की जाने वाली गतिविधियों को प्रस्तावित करेगी। उन्होंने कहा कि इन सर्किटों में पार्क, वर्षा शालिकाएं, शौचालय, गलियों के रास्ते, पैदल मार्ग, मन्दिरों का सौंदर्यीकरण, भू-निर्माण, सराएं निर्माण, सामुदायिक सभागार, ट्रैकर्ज आवास, जहां सम्भव हो सड़कों को चौड़ा करना, संकेत तथा यातायात दिशा चिन्ह, पार्किंग लाईटें, कूड़ादान तथा ठोस कचरा प्रणाली में सुधार इत्यादि पर्यटन अधोसंरचना को विकसित किया जाएगा। प्रत्येक सर्किट में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए एक विशेष गंतव्य को आदर्श और अद्वितीय पर्यटन गंतव्य के रूप में विकसित किया जाएगा। मुख्यमंत्री अनुसार निजी पार्टियों के माध्यम से होम-स्टे, प्राकृतिक वॉक, ईको ट्रेल्ज, टैक्स एण्ड पथयात्रा तथा बागानों के ट्रिप आयोजित करने को बड़े पैमाने पर प्रोत्साहित किया जाएगा। स्थानीय व्यंजनों, लोक कलाकारों, स्थानीय कारीगरों, टूर गाइड, इको-गाइड, एडवेंचर गाइड इत्यादि को प्रोत्साहित किया जाएगा और इससे रोजगार के अवसर पर भी सृजित होंगे। 

'नई राहें-नई मंजिलें' योजना अगर सफल रहती है तो जहां प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र विकसित होंगे वही प्रदेश में रोजगार व राजस्व भी बढ़ेगा लेकिन सरकार को यह बात भी सुनिश्चित करनी चाहिए कि ग्रामीण क्षेत्र की खूबसूरती खराब न हो और पर्यावरण की दृष्टि से भी क्षेत्र को कोई हानि न हो। प्रदेश के राजस्व में बढ़ौतरी करना भी लक्ष्य है तो पर्यावरण की दृष्टि से प्रदेश को कोई नुकसान न हो यह बात भी सरकार की प्राथमिकता में होनी चाहिए।

    
  - इरविन खन्ना, मुख्य संपादक, दैनिक उत्तम हिन्दू।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9814266688 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


FIFA WC 2018 : पनामा को 6-1 से हराकर अंतिम-16 में पहुंचा इंग्लैंड 

निझनी नोवगोग्राड (उत्तम हिंदू न्यूज) : कप्तान हैरी केन की शान...

नहीं थम रही कपिल शर्मा की मुश्किलें, अब स्पॉन्सर्स को चुकाने होंगे पैसे

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): कॉमेडियन व अभिनेता कपिल शर्मा की मुश्किलें मानों कम होने का ना...

top