Wednesday, January 23,2019     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राजनीति

विश्व बैंक का अनुमान

Publish Date: January 11 2019 12:51:23pm

विश्व बैंक रिपोर्ट अनुसार भारत की अर्थव्यवस्था में वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान 7.3 प्रतिशत तथा इसके बाद अगले दो साल के दौरान 7.5 प्रतिशत की दर से वृद्धि होने का अनुमान है। विश्व बैंक ने यह अनुमान व्यक्त करते हुए कहा है कि भारत विश्व की सबसे तेजी से वृद्धि करने वाली मुख्य अर्थव्यवस्था बना रहेगा। वैसे बैंक ने वैश्विक अर्थव्यवस्था की मौजूदा स्थिति को आसमान पर धुंध छाने जैसी करार दिया है। वैश्विक आर्थिक परिदृश्य रिपोर्ट-जनवरी 2019 में विश्व बैंक ने कहा कि चीन की अर्थव्यवस्था के 2019 और 2020 में 6.2 प्रतिशत तथा 2021 में छह प्रतिशत की दर से वृद्धि करने का अनुमान है। विश्व बैंक परिदृश्य समूह के निदेशक आह्यान कोसे के अनुसार भारत की आर्थिक वृद्धि का परिदृश्य अब भी शानदार है। भारत अभी भी सबसे तेजी से वृद्धि करने वाली विश्व की प्रमुख अर्थव्यवस्था है। उन्होंने कहा कि भारत ने कारोबार सुगमता रैकिंग में भी सुधार दर्ज किया है। भारत में वृद्धि की संभावनाएं हैं। विश्व बैंक ने कहा कि मजबूत घरेलू मांग के कारण अगले साल चालू खाता घाटा जीडीपी का 2.6 प्रतिशत रह सकता है। कोसे ने कहा, भारत की वृद्धि के हालिया आंकड़ों से पता  चलता है कि तात्कालिक अवरोधों (नोटबंदी और जीएसटी) के बाद भी अर्थव्यवस्था मजबूत बनी हुई है। विश्व बैंक ने वैश्विक अर्थव्यवस्था की मौजूदा स्थिति को आसमान पर धुंध छाने जैसी बताते हुए इस साल के लिए वैश्विक आर्थिक वृद्धि का पूर्वानुमान पिछले साल के 3 प्रतिशत के मुकाबले 2.9 प्रतिशत कर दिया है। परिदृश्य रिपोर्ट में बैंक ने कहा कि वैश्विक आर्थिक वृद्धि के सुस्त पडऩे का अनुमान है।

उपरोक्त तथ्यों से स्पष्ट है कि वर्ष 2019 में जहां विकासशील देशों को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा वहीं भारत की विकास दरें बढ़ सकती हैं। विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) ने दावा किया है कि भारत 2030 तक दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता बाजार होगा। उससे आगे सिर्फ चीन और अमेरिका होंगे। भारत का उपभोक्ता खर्च मौजूदा 1.5 लाख करोड़ से बढ़कर 6 लाख करोड़ रुपए हो जाएगा। डब्ल्यूईएफ के उपभोक्ता इंडस्ट्री की प्रमुख और कार्यकारी समिति की सदस्य जारा इंग्लीजियान का कहना है कि भारत की निजी घरेलू खपत जीडीपी का 60 फीसदी है, जो दुनिया का सबसे तेज उभरता बाजार है। इस दौरान 2.5 करोड़ लोग गरीबी रेखा से ऊपर आ जाएंगे और हजारों गांव व शहर विकसित हो जाएंगे।

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका और यूरोप की कंपनियों के बाद अब एशियाई कंपनियों को भी अपना भविष्य भारत में दिखाई देने लगा है और वह भारत में अपने ग्लोबल इनहाउस सेंटर (जीआईसी) स्थापित कर रही हैं। इंटरनेट ऑफ थिंग्स, कृत्रिम बुद्धिमत्ता और डेटा एनालिटिक्स जैसे क्षेत्रों में शोध और विकास को बढ़ाने के लिए कई एशियाई कंपनियों की नजर भारत पर है। इनमें वाहन से लेकर उपभोक्ता विनिर्माण क्षेत्र तक की कंपनियां शामिल हैं। उद्योग के अनुमानों के मुताबिक पिछले एक साल के दौरान जापान, दक्षिण कोरिया और सिंगापुर की कम से कम नौ बड़े कारोबारी समूहों ने भारत में अपने इनहाउस प्रौद्योगिकी केंद्र खोले हैं। भारत में प्रतिभाओं के भंडार के साथ-साथ स्टार्टअप के लिए बढ़ता माहौल और किफायती लागत की सुविधा है। यही वजह है कि ये कंपनियां भारत का रुख कर रही हैं। एशियाई कंपनियां भारत को बड़ा बाजार मानती हैं और वे यहां अपनी मौजूदगी से कारोबार बढ़ाना चाहती हैं। अंतरराष्ट्रीय कंपनियों के लिए जीआईसी स्थापित करने के वास्ते भारत पसंदीदा जगह रही हैं।

देश की आर्थिक, सामाजिक तथा राजनीतिक क्षेत्रों में आ रहे परिवर्तनों को एक बड़ा वर्ग तो सकारात्मक दृष्टि से देख रहा है लेकिन एक छोटा वर्ग ऐसा भी है जो आ रहे परिवर्तन को नकारात्मक दृष्टि से देख रहा है और इस कारण चिंताग्रस्त भी है और मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहा है। वर्तमान में विपक्ष भी विरोध के लिए विरोध करता दिखाई दे रहा है, जिस कारण जन साधारण चिंतित भी है। लेकिन अब विश्व बैंक और अमेरिका, यूरोप और एशियाई कंपनियां भारत में रुचि लेने लगी हैं तो इससे स्पष्ट है कि भारत का विकास ठीक दिशा में है और निकट भविष्य में घबराने की आवश्यकता नहीं है। भारत की प्रतिभा तो पहले ही विश्व में अपनी विशेष पहचान रखती हैं, अब देश में निवेश का माहौल भी बन रहा है फिर चिंता क्यों?

-इरविन खन्ना, मुख्य संपादक, दैनिक उत्तम हिन्दू।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


टीम इंडिया को झटका, न्यूजीलैंड के खिलाफ अंतिम दो वनडे और ट्वंटी-20 सीरीज नहीं खेलेंगे विराट 

नेपियर (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय कप्तान विराट कोहली को न्य...

'83' के साथ बॉलीवुड में कदम रखेंगे एमी विर्क

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): पंजाबी गायक एमी विर्क आगामी फिल्म '83' के साथ बॉलीवुड ...

top