Sunday, June 24,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
पंजाब

कैप्टन ने किसानों को बांटे कर्ज माफी प्रमाण पत्र, मुफ्त बिजली की सुविधा जारी रखने की घोषणा

Publish Date: March 14 2018 07:09:04pm

नकोदर (जालंधर) (उत्तम हिन्द न्यूज): पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज कहा कि राज्य के किसानों को मुफ्त बिजली की सुविधा जारी रहेगी। कैप्टन सिंह ने राज्य के नागरिकों को गुमराह करने की कोशिश करने के लिए अकाली नेताओं पर लोगों को भ्रमित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह चुनाव के दौरान किए वादे के अनुसार किसान कर्ज माफी के वायदे को पूरा करने के लिए वचनवद्ध हैं। कृषि ऋण माफी के प्रमाण पत्र जारी करने के एक कार्यक्रम में कृषि समुदाय को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य के 10.25 लाख छोटे और सीमांत किसानों के लिए ऋण की छूट के दूसरे चरण में आज 29,192 किसानों को 162.16 करोड़ रुपये के कर्ज माफी प्रमाण पत्र दिए गए हैं।

जालंधर, कपूरथला, लुधियाना, फजिल्का और फिरोजपुर के पांच जिलों के योग्य किसानों ने आज मुख्यमंत्री से अपने ऋण माफी के प्रमाण पत्र प्राप्त किये। कैप्टन सिंह ने किसानों को आश्वासन दिया कि इस मामले में मामूली विलंब धन की कमी का नतीजा नहीं है बल्कि यह तथ्य है कि पात्र किसानों की पहचान और सत्यापन, उनकी ऋण राशि के साथ कुछ समय ले रहा था हालांकि, उन्होंने यह स्पष्ट किया कि वह कर्ज माफी के वादे को लागू करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं। इस संबंध में उनकी सरकार विधानसभा के आगामी बजट सत्र में जानकारी देगी। 

ट्यूबवेल बिजली मीटर के मुद्दे पर अकाली नेताओं की ओर से पंजाब सरकार के खिलाफ लगाये जा रहे आरोप पर कि मुफ्त बिजली बंद की जा रही है, मुख्यमंत्री ने किसानों के लिए मुफ्त बिजली वापस लेने के कोई भी प्रस्ताव को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने भूजल को बचाने के उद्देश्य से एक शोध परियोजना के हिस्से के रूप में राज्य में 13.5 लाख ट्यूबवेलों में से नौ सौ ट्यूबवेलों को ही बिजली के मीटर प्रदान किये हैं। उन्होंने बताया कि अगर एक किसान को अपनी ट्यूबवेल की बिजली की खपत के हिसाब से 10 हजार रुपए दिए गए हैं और खर्च सात हजार रुपये होता है तो न केवल शेष तीन हजार रुपए उसकी अपनी जेब में जाएंगे बल्कि वह भूजल स्तर को कम करने के लिए भी योगदान दे रहा होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि भविष्य की पीढिय़ों के लिए पानी बचाने के लिए हमारी पीढ़ी की जिम्मेदारी है।

उन्होंने चेतावनी दी कि तत्काल पानी के स्तर में गिरावट को रोकने के लिए सुधारक उपाय नहीं किए तो पंजाब एक रेगिस्तान बन जाएगा। उन्होंने पटियाला का उदाहरण बताया जहां सिर्फ एक वर्ष में पानी का स्तर 70 फीट से बढ़ाकर 700 फीट हो गया। अपनी सरकार के प्रयासों की सराहना करने के बजाय, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा मत अकाली धोखे और आरोपों में संलिप्त हैं। उन्होने लोगों को आग्रह किया कि वे अकालियों से गुमराह न हों। उन्होंने कहा कि अकाली भाजपा के साथ गठजोड़ में है जो केवल पंजाब की अर्थव्यवस्था की कीमत पर अपनी जेब भरने में रुचि रखते हैं। उन्होंने कहा कि दोनों पार्टियों के बीच गठजोड़ इस तथ्य से स्पष्ट है कि जबसे भाजपा ने हिमाचल प्रदेश में सत्ता संभाली है, अकालियों ने हिमाचल प्रदेश में बसें चलानी शुरू कर दी हैं। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9814266688 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


FIFA WC 2018 : पनामा को 6-1 से हराकर अंतिम-16 में पहुंचा इंग्लैंड 

निझनी नोवगोग्राड (उत्तम हिंदू न्यूज) : कप्तान हैरी केन की शान...

नहीं थम रही कपिल शर्मा की मुश्किलें, अब स्पॉन्सर्स को चुकाने होंगे पैसे

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): कॉमेडियन व अभिनेता कपिल शर्मा की मुश्किलें मानों कम होने का ना...

top