Saturday, July 21,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
पंजाब

एस.सी/.एस.टी. कानून को कमजोर करने की साजिशों के खिलाफ कांग्रेस सांसद संसद में बुलंद करें आवाज : अमरिंदर

Publish Date: April 14 2018 07:12:59pm

जालंधर (उत्तम हिन्दू न्यूज): पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने समाज के पिछड़े वर्गों के कल्याण के लिए संविधान के 85वें संशोधन को लागू करने के प्रति अपनी सरकार की वचनबद्धता को दोहराते हुए पंजाब से संबंधित कांग्रेस पार्टी के सांसदों को कहा है कि वह एस.सी./एस.टी. एक्ट को कमजोर करने की साजिशों के खिलाफ सदन में जोरदार ढंग से आवाज उठाएं। 

एस.सी./एस.टी. कानून को अर्थहीन करने की कोशिशों पर चिंता प्रकट करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस यह यकीनी बनाएगी कि इस कानून के अंतर्गत एस.सी./एस.टी. भाईचारों को मिला सुरक्षा कवच बना रहे। मुख्यमंत्री ने अपने पिछले कार्यकाल को याद करते हुए कहा कि उनकी पिछली सरकार के समय राज्य में संविधान की 85वेंं संशोधन अनुसार पंजाब अनुसूचित जातियों और पिछड़ीं श्रेणियों (सेवा में आरक्षण) कानून 2006 लागू किया था जिससे नौकरियों में पदोन्नति के समय इसका लाभ दिया जा सके। 

यहां डा. बी.आर. अंबेडकर की 127वीं जयंती पर राज्यस्तरीय समागम में इस महान समाज सुधारक को याद करते और डा. अंबेडकर को दूरअन्देशी मनुष्य बताते मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा साहेब ने भविष्य के भारत की स्थितियों को समझते हुए ऐसा संविधान रचा जो आज भी हमारा मार्गदर्शक है। एस.सी. भाईचारों के कल्याण के हित में डा. बी.आर. अंबेडकर के योगदान की प्रशंसा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनको ज्ञान के स्त्रोत होने के कारण ही देश के पहले प्रधानमंत्री श्री जवाहर लाल नेहरू ने इस महत्वपूर्ण कार्य के लिए चुना था। 

इस अवसर पर तकनीकी शिक्षा मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने कहा कि यदि 1936 में अकाली दल डा. बी.आर. अंबेडकर को सिख धर्म स्वीकार करने की सहमति दे देता तो आज इस समाज के हाथ देश की बागडोर होनी थी। अकाली दल की एस.सी. विरोधी नीतियों की आलोचना करते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा कि कांग्रेस सरकार और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह इस पिछड़े वर्ग की अब एक ही उम्मीद हैं। पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रधान और गुरदासपुर से लोक सभा मैंबर सुनील जाखड़ ने पिछड़े वर्गों के कल्याण के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा किये जा रहे यत्नों की सराहना करते कहा कि मुख्यमंत्री ने इन भाईचारों की पीड़ा को समझते हुए इनके 50 हज़ार तक के कजऱ्े माफ करने का फ़ैसला किया है। इस अवसर पर अन्य के अलावा मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल, ओ.एस.डी. गुरप्रीत सिंह सोनू ढेसी, विधायक राणा गुरजीत सिंह, परगट सिंह, रजिन्दर बेरी, सुशील कुमार रिंकू, डा. राज कुमार चब्बेवाल, बावा हैनरी, चौधरी सुरिन्दर सिंह, सुखविंदर सिंह डैनी, स. संतोख सिंह भलाईपुर, जोगिन्द्र पाल, चेयरमैन मार्कफैड स. अमरजीत सिंह समरा डीसी वरिन्दर कुमार शर्मा, पुलिस कमिश्नर प्रवीन कुमार सिन्हा आदि भी उपस्थित थे।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9814266688 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


भारत ने ओलम्पिक चैंपियन इंग्लैंड से खेला 1-1 का ड्रा

लंदन (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भारतीय महिला हॉकी टीम ने महिला विश्व कप हॉकी टूर्नामेंट में शन...

कॉमेडी फिल्में करना चाहते हैं जिम्मी शेरगिल

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेता जिम्मी शेरगिल कॉमेडी फिल्में अधिक करना चाहते हैं। जिम्...

top