Wednesday, May 23,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
पंजाब

13 अप्रैल की हिंसा की सीबीआई जांच पर अड़ा जनरल समाज 

Publish Date: May 16 2018 08:35:34pm

फगवाड़ा (उत्तम हिन्दू न्यूज): पंजाब के फगवाड़ा में जनरल समाज मंच की बैठक में आज 13 अप्रैल की रात को हुई हिंसा की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने, हिंसा के लिए जिम्मेदार अराजक तत्वों की गिरफ्तारी के साथ ही वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के तुरंत तबादले की मांग की गई। बैठक में अनुसूचित जाति/जनजाति समुदाय को हिंदू समुदाय का हिस्सा मानते हुए समाज में एकजुटता पर भी जोर दिया गया।

बैठक में फगवाड़ा एडीसी बबीता कलेर, एसपी परमिंदर सिंह भडल और एसडीए ज्योति बाला के स्थितियों से निबटने में पक्षपाती नीतियां अपनाने और अपनी ड्यूटी निभाने में कोताही बरतने के आरोप लगाये गये और उनके तुरंत तबादले की मांग की गई। बैठक में मंच के नेताओं ने शिवसेना नेताओं के खिलाफ लगाई गई धारा 302 (हत्या) को हटाकर 304 (गैर इरादतन किसीकी जान लेना) लगाने की मांग की गई और दावा किया गया कि गोलीबारी आत्मरक्षा के लिए की गई थी। तय किया गया कि मंच का एक प्रतिनिधि मंडल 18 मई को पंजाब के राज्यपाल से मिलेगा। उक्त हिंसा में एक दलित युवक यशवंत बॉबी को सिर में गोली लगी थी और 16 दिनों तक अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष करने के बाद उसने दम तोड़ दिया था। मंच की यह भी मांग है कि गोल चौक को शहीद भगत सिंह चौक का नाम दिया जाए।

हिंसा का कारण गोल चौक का नाम बदलकर संविधान चौक का फ्लेक्स बैनर लगाना था। बैठक को पूर्व सांसद कमल चौधरी, मंच के अध्यक्ष श्यामलाल शर्मा और मंच के प्रदेशाध्यक्ष फतेह सिंह परमार आदि ने संबोधित किया। इस बीच पुलिस ने 13 अप्रैल की हिंसा को लेकर आज अंबेडकर सेना मूल निवासी अध्यक्ष हरभगन सुमन, बलजिंदर कुमार, संजीव कुमार, दविंदर दीप और प्रदीप अंबेडकरी को गिरफ्तार किया। इन्हें भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के अलावा पंजाब सार्वजनिक एवं निजी संपत्ति नुकसान प्रतिबंधक कानून की धारा के तहत गिरफ्तार किया गया है। उच्च पुलिस अधिकारियों ने गिरफ्तारी की पुष्टि की। इन्हें फगवाड़ा न्यायिक दंडाधिकारी के समक्ष पेश किया गया जिन्होंने उन्हें 25 मई तक न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया। इस बीच 29 अप्रैल को दर्ज किये गये एक मामले में पुलिस ने बॉबी, रोहित, सुरेंदर और योगेश को गिरफ्तार किया है। इन सभी को सात दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। 

पुलिस महानिरीक्षक नौनिहाल सिंह ने बताया कि 13 अप्रैल की हिंसा के दौरान गोली लगने से मारे गये यशवंत बॉबी के शरीर से निकली गोली की फोरेंसिक रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है। फोरेंसिक रिपोर्ट से ही पता चल पायेगा कि गोली किस हथियार से चली थी।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9814266688 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


साइना नेहवाल ने पूरा किया खेल मंत्री राठौड़ का चैलेंज, देखें वीडियो

नई दिल्ली (उत्तम हिंदू न्यूज) : फिटनेस को बढ़ावा देने के लिए ...

जीवन के हर रिश्ते को महत्व देती हैं करीना कपूर

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : अभिनेत्री करीना कपूर खान का कहना...

top