Sunday, July 22,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
पंजाब

प्रदेश के किसानों को मोदी ने किया निराश : कैप्टन

Publish Date: July 11 2018 08:10:50pm

चंडीगढ़ (उत्तम हिन्दू न्यूज) : पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने प्रधानमंत्री नरिन्दर मोदी द्वारा मलोट रैली के दौरान किसानी संकट से जुड़े अहम मसलों को सुलझाने के लिए कोई ठोस प्रोग्राम न देने पर निराशा ज़ाहिर की है। इसके साथ ही कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने अकालियों को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इन्होंने हरियाणा के मुख्यमंत्री को रैली में उपस्थित होने की इजाज़त देकर पंजाब के साथ द्रोह किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि संकट में फंसी किसानी को मोदी के लंबे भाषण में से उनकी समस्याओं का हल निकालने संबंधी कोई न कोई बात सुनने की आशा थी परन्तु इस भाषण में से कोई ठोस बात नहीं निकली। उन्होंने इस बात पर हैरानी ज़ाहिर की कि प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में किसान आत्महत्याएँ, कृषि कर्जों और स्वामीनाथन रिपोर्ट का जि़क्र तक नहीं किया।

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि बादलों ने आज के इस मौके पर पानियों पर पंजाब के हक और सतलुज -यमुना लिंक नहर के मुद्दे पर आवाज़ उठाने की बजाय हमारे राज्य के हितों के विरुद्ध सक्रिय हरियाणा के मुख्यमंत्री एम.एस. खट्टर के साथ मंच सांझा करके किसानों के जख्मों पर नमक छिड़का है।

आज यहाँ से जारी बयान में मुख्यमंत्री ने कहा कि रैली के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा कुछ ठोस ऐलान किये जाने की आशा से सख्त गर्मी में किसानों के पल्ले निराशा ही पड़ी है। उन्होंने कहा कि मोदी ने अपने भाषण में किसानों के कल्याण की बात करने की बजाय एन.डी.ए. सरकार के चार वर्षों के कार्यकाल का ढोल ही बजाया गया जबकि केंद्र सरकार हर मोड़ पर बुरी तरह फैल साबित हुई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है परन्तु प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में किसानों की समस्याओं का जि़क्र करने की कोई भी ज़रूरत नहीं समझी। मुख्यमंत्री ने कहा कि खट्टर की रैली में सम्मिलन को यकीनी बनाकर अकालियों ने पंजाब के साथ द्रोह किया है। शिरोमणि अकाली दल की तीखी आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि एस.वाई.एल. और पंजाब के पानियों संबंधी खट्टर का पक्ष स्पष्ट है। इसीलिए रैली में खट्टर के सम्मिलन को अकालियों द्वारा रोका जाना चाहिए था। 

मुख्यमंत्री ने शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल द्वारा श्री मोदी के पास चंडीगढ़ संबंधी पंजाब की माँग न उठाने के लिए भी उनकी तीखी अलोचना की, इसके बावजूद कि अकाली दल, भारतीय जनता पार्टी की हिस्सेदार है। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने पिछले समय के दौरान अनेकों संकल्प पास किये परन्तु वह प्रधानमंत्री के पास यह मुद्दे उठाने में असफल रहे। उन्होंने कहा कि इससे सिद्ध हो गया है कि यह संकल्प सिफऱ् राजनैतिक उद्देश्यों के मद्देनजऱ वोटें प्राप्त करने के लिए ही पास करते रहे हैं।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9814266688 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


भारतीय पहलवान सचिन राठी ने रचा इतिहास, 74 किग्रा फ्रीस्टाइल भारवर्ग में जीता गोल्ड

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज)- जूनियर एशियन चैंपियनशिप 2018 ...

12 साल बाद इस फिल्म में साथ काम करेंगे अजय देवगन व सैफ अली खान

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): बॉलीवुड के छोटे नवाब सैफ अली खान सिल्वर स्क्रीन पर खलनायक का क...

top