Saturday, June 23,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
दिल्ली

धुंध के कारण यमुना में गिरी कार, दो छात्रों की मौत

Publish Date: November 10 2017 11:26:30am

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के तिमारपुर में धुंध की वजह से एक तेज रफ्तार कार यमुना नदी में गिर गई। इस दर्दनाक घटना में कार में बैठे दो युवकों की पानी में डूबने से मौत हो गई, जबकि तीन अन्य युवक किसी तरह जान बचाकर बाहर निकलने में सफल रहे। मृतकों की शिनाख्त दीपक जांगीड़ तथा कृष्णा यादव के तौर पर की गई। फिलहाल पुलिस ने इस बाबत लापरवाही से मौत की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है और दोनों शवों को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

पुलिस के अनुसार दीपक जांगीड़ और कृष्णा यादव अपने परिवार के साथ हौजखास पुलिस कालोनी में रहते थे। दोनों प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते थे। इनके बचपन के दोस्त आकाश व दीपक तिमारपुर के वजीराबाद गली संख्या 15 में रहते हैं। बुधवार शाम अचानक दीपक जांगीड़ और कृष्णा यादव का आकाश के फ्लैट पर आने का कार्यक्रम बना। इसके बाद दीपक जांगीड़ अपनी कार से कृष्णा यादव के साथ वजीराबाद आकाश व दीपक के घर पहुंचा। इसके बाद चारों ने अपने एक और दोस्त आनंद को भी मौके पर बुला लिया, जो किंग्सवे कैम्प में रहता है। पुलिस ने बताया कि देर रात सभी पांच युवक कार से वजीराबाद के पास श्याम घाट पर पहुंचे थे।

जहां देर रात तक घाट के समीप शराब पीने के बाद करीब डेढ़ बजे दीपक ने कार स्टार्ट की और वहां से निकला, लेकिन धुंध और नशे के कारण चालक रास्ता नहीं समझ पाया जिसके चलते उनकी कार यमुना नदी की तरफ चली गई। पुलिस ने दावा किया कि पानी में कार के जाने के बाद कार बाई तरफ से पलट गई जिसकी वजह से चालक की सीट पर बैठा दीपक और पीछे बैठे आकाश और आनंद तो दरवाजा खोलकर बच निकले, लेकिन बाकी दीपक जांगीड़ और कृष्णा कार के साथ पानी में समा गए। काफी देर तक इनलोगों ने खुद से पानी में डूबे दोस्तों की तलाश की लेकिन पता नहीं चलने पर इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने बताया कि देर रात ही दोनों के शवों को बाहर निकाला गया और इसकी सूचना उनके परिजनों को दी गई।

पूछताछ में पता चला है कि दोनों मृतक एनसीसी के कैडेट थे और वर्तमान में दोस्तों के साथ मिलकर दिल्ली पुलिस में भर्ती की तैयारी कर रहे थे। इनमें दीपक के पिता प्रकाश सिंह दिल्ली पुलिस में हेड कांस्टेबल थे, लेकिन आंखों की रोशनी चले जाने के कारण उनकी जगह पर मां कविता सिंह को नौकरी मिल गई जो वर्तमान में आरकेपुरम थाने में तैनात हैं। वहीं कृष्णा यादव के हेड कांस्टेबल पिता की तबियत खराब होने के कारण उसकी मां कृष्णा देवी नौकरी कर रही हैं और वह वर्तमान में डीसीपी हौजखास के आफिस में तैनात हैं। घटना के बाबत बाकी बचे तीनों दोस्तों से पूछताछ की जा रही है।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9814266688 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


FIFA WC 2018 : ट्यूनीशिया को हराकर नॉकआउट में पहुंचा बेल्जियम

मॉस्को (उत्तम हिंदू न्यूज) : कप्तान ईडन हेजार्ड (6वें, 51वें ...

संजू के लिए रणबीर नहीं रणवीर को कास्ट करना चाहते थे विधु विनोद चोपड़ा

मुंबई (उत्तम हिंदू न्यूज) : बॉलीवुड फिल्मकार विधु विनोद चोपड़ा...

top