Tuesday, April 16, 2024
ई पेपर
Tuesday, April 16, 2024
Home » कुछ दिन पहले खुले अस्पताल में लगी आग, 11 नवजात बच्चों की दर्दनाक मौत

कुछ दिन पहले खुले अस्पताल में लगी आग, 11 नवजात बच्चों की दर्दनाक मौत

सेनेगल (उत्तम हिन्दू न्यूज) : सेनेगल के टिवाउने शहर में आग की बड़ी घटना सामने आई है। यहां एक अस्पताल में आग लगने से 11 नवजात बच्चों की मौत हो गई है। देश के राष्ट्रपति ने इस दुखद घटना की जानकारी दी है।

सेनेगल की स्थानीय मीडिया के अनुसार, जिस अस्पताल में आग लगी उसका हाल ही में उद्घाटन किया गया था। अस्पताल में आग लगने की वजह से 11 नवजात शिशुओं की मौत हो गई। पिछले महीने भी एक अस्पताल में आग लगने से कई बच्चे मारे गए थे।

अफ्रीकी देश सेनेगल में एक हृदय विदारक घटना घट गई, जब एक अस्पताल में आग लगने की वजह से 11 नवजात शिशुओं की मौत हो गई। इस घटना के बारे में सेनेगल के राष्ट्रपति मैकी सैल ने बुधवार देर रात बताया कि पश्चिमी सेनेगल के शहर तिवाउने में एक अस्पताल में आग लगने से 11 नवजात शिशुओं की मौत हो गई। पश्चिमी अफ्रीकी देश में स्वास्थ्य प्रणाली पर लगातार सवाल उठते रहे हैं।

सेनेगल में आधी रात से ठीक पहले, राष्ट्रपति मैकी सैल ने ट्विटर पर घोषणा की कि आग में 11 नवजात शिशुओं की मौत हो गई। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, “मुझे अभी हाल ही में सार्वजनिक अस्पताल के नवजात विभाग में आग लगने से 11 नवजात शिशुओं की मौत के बारे में जानकारी मिली।” उन्होंने आगे कहा, “नवजातों की माताओं और उनके परिवारों के लिए, मैं अपनी गहरी सहानुभूति व्यक्त करता हूं।”

सेनेगल के नेता Diop Sy के अनुसार, आग लगने की यह त्रासदी तिवाउने के ट्रांसपोर्ट हब में मामे अब्दु अजीज सी दबाख अस्पताल में हो गई और यह “शॉर्ट सर्किट” के कारण हुई थी। उन्होंने कहा कि अस्पताल में लगी आग बहुत तेजी से फैल गई।

शहर के मेयर डेम्बा डीओप ने कहा कि अस्पताल में आग लगने की घटना में तीन शिशुओं को बचा लिया गया। स्थानीय मीडिया के अनुसार, मामे अब्दु अजीज सई दबाख अस्पताल का हाल ही में उद्घाटन किया गया था।

इसी तरह की एक घटना पिछले महीने अप्रैल के अंत में उत्तरी शहर लिंगुरे में भी हुई थी, जब एक अस्पताल में आग लग गई थी और उस घटना में चार नवजात शिशुओं की मौत हो गई थी। उस शहर के मेयर ने प्रसूति वार्ड में एक एयर कंडीशनिंग इकाई में बिजली की खराबी का हवाला दिया था।

सिजेरियन सेक्शन के लिए व्यर्थ की प्रतीक्षा करने वाली एक गर्भवती महिला की मौत की खबर से देश को हिला देने घटना के करीब एक महीने बाद बुधवार को यह नई घटना घट गई।

अप्रैल की शुरुआत में, एक गर्भवती महिला ऑपरेशन के लिए उत्तर-पश्चिमी शहर लूगा के एक सार्वजनिक अस्पताल में इंतजार कर रही थी। लेकिन इलाज के लिए पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई। उनकी मृत्यु ने सेनेगल की सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली की खराब स्थिति पर पूरे देश में आक्रोश की लहर पैदा कर दी।

लूगा के हाई कोर्ट ने 11 मई को तीन दाइयों को महिला की मौत के मामले के संबंध में “आपात स्थिति में एक शख्स की मदद करने में नाकामी” के लिए छह महीने के निलंबित कारावास की सजा सुनाई थी। जबकि तीन अन्य दाइयों को मामले में बरी कर दिया गया।

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd