Sunday, February 25, 2024
ई पेपर
Sunday, February 25, 2024
Home » बंगाल राशन वितरण घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, वन मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक गिरफ्तार

बंगाल राशन वितरण घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, वन मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक गिरफ्तार

कोलकाता (उत्तम हिन्दू न्यूज): प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने करोड़ों रुपये के राशन वितरण मामले में पश्चिम बंगाल के वर्तमान वन मंत्री और पूर्व खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री ज्योतिप्रिय मलिक को गिरफ्तार कर लिया है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

 Minister Jyotipriya Mallik arrested: कोलकाता के उत्तरी बाहरी इलाके में मल्लिक के साल्ट लेक आवास पर गुरुवार सुबह 8 बजे से पहले शुरू हुई लगभग 20 घंटे की छापेमारी और तलाशी अभियान के बाद, मंत्री को शुक्रवार सुबह लगभग 4 बजे उनके आवास से साल्ट लेक में ईडी के केंद्र सरकार कार्यालय (सीजीओ) परिसर में ले जाया गया।

लेकिन तब यह स्पष्ट नहीं था कि उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया है या आगे की पूछताछ के लिए केंद्रीय एजेंसी कार्यालय ले जाया गया है। शुक्रवार सुबह करीब छह बजे एजेंसी के अंदरूनी सूत्रों ने जानकारी दी कि मल्लिक को गिरफ्तार कर लिया गया है। ईडी कार्यालय में प्रवेश करते समय, मल्लिक ने दावा किया कि वह भाजपा द्वारा उनके खिलाफ रची गई साजिश का शिकार हुए हैं।

राज्य के पूर्व शिक्षा मंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) विधायक पार्थ चटर्जी के बाद, मल्लिक कथित मनी लॉन्ड्रिंग घोटाले के संबंध में केंद्रीय एजेंसी के द्वारा गिरफ्तार किए जाने वाले पश्चिम बंगाल कैबिनेट के दूसरे सदस्य हैं। चटर्जी, माणिक भट्टाचार्य और जीबन कृष्ण साहा के बाद मल्लिक चौथे टीएमसी विधायक हैं जिन्हें केंद्रीय एजेंसी के अधिकारियों ने हिरासत में लिया है।

अन्य तीन को पश्चिम बंगाल में स्कूल में नौकरी के बदले नकद मामले में कथित संलिप्तता के कारण गिरफ्तार किया गया था। मल्लिक को 2011 से 2021 तक राज्य के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री के रूप उनके कार्यकाल के दौरान हुए राशन वितरण मामले में गिरफ्तार किया गया है। जहां चटर्जी, भट्टाचार्य और मल्लिक को ईडी के अधिकारियों ने गिरफ्तार किया था, वहीं साहा को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में उनके समकक्षों ने गिरफ्तार किया था।

मल्लिक का नाम राशन वितरण मामले में कोलकाता स्थित व्यवसायी बकीबुर रहमान के आवास और कार्यालय से ईडी द्वारा जब्त किए गए दस्तावेजों की जांच के दौरान सामने आया, जिन्हें हाल ही में एजेंसी ने इस मामले में गिरफ्तार किया था। इस बीच, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंत्री के स्वास्थ्य पर कोई नकारात्मक प्रभाव पड़ने पर ईडी अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की धमकी दी है।

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd