Wednesday, February 21, 2024
ई पेपर
Wednesday, February 21, 2024
Home » राजस्थान में शुरू हुई सीएम की रेस, सबसे आगे वसुंधरा राजे सिंधिया, बिरला, मेघवाल, शेखावत भी दाैड़ में शामिल

राजस्थान में शुरू हुई सीएम की रेस, सबसे आगे वसुंधरा राजे सिंधिया, बिरला, मेघवाल, शेखावत भी दाैड़ में शामिल

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज)-भाजपा राजस्थान में पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने की स्थिति में आ गई है। इसी के साथ राज्य में अगले मुख्यमंत्री को लेकर कयासों का दौर भी शुरू हो गया है। सूत्रों की माने तो, प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया राज्य में मुख्यमंत्री की रेस में सबसे आगे चल रही हैं।

राज्य में तमाम कयासों को धत्ता बताते हुए, जिस तरह से भाजपा की शानदार जीत हुई है, उससे वसुंधरा राजे सिंधिया और ज्यादा मजबूत होकर उभरी हैं। वसुंधरा गुट के ज्यादातर उम्मीदवार चुनाव जीत कर आए हैं, सिर्फ भाजपा के टिकट पर ही नहीं, बल्कि वसुंधरा राजे सिंधिया के कई करीबी नेता निर्दलीय भी चुनाव जीत रहे हैं और ऐसे में अगर मुख्यमंत्री चयन का दायित्व विधायक दल की बैठक पर छोड़ा जाएगा तो वसुंधरा राजे सिंधिया का मुख्यमंत्री बनना तय है।

सूत्रों के मुताबिक, वसुंधरा राजे सिंधिया ने सीएम पद को लेकर मतगणना से पहले ही लॉबिंग शुरू कर दी थी। पिछले 48 घंटों के दौरान वसुंधरा अपने करीबी 60 के लगभग नेताओं से बातचीत कर चुकी हैं। वसुंधरा आरएसएस के भी कई नेताओं से मुलाकात कर चुकी हैं। हालांकि, कोटा से लोकसभा सांसद एवं लोकसभा स्पीकर ओम बिरला, केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और महंत बालकनाथ भी सीएम पद की रेस में बताए जा रहे हैं।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, एक बड़े नेता ओम बिरला को राजस्थान का मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं तो वहीं पिछले कुछ वर्षों के दौरान पार्टी में एक ताकतवर नेता के रूप में उभरने वाले नेता महंत बालकनाथ को सीएम बनाने की वकालत कर रहे हैं।

भाजपा ने अलवर से लोकसभा सांसद होने के बावजूद महंत बालकनाथ को तिजारा विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया था और महंत बालकनाथ का कांग्रेस के मुस्लिम उम्मीदवार इमरान खान को हराकर विधायकी का चुनाव जीतना लगभग तय हो गया है। महंत बालकनाथ ने शनिवार को दिल्ली में पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महासचिव बीएल संतोष से मुलाकात भी की थी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरह महंत बालकनाथ भी नाथ संप्रदाय से आते हैं और यूपी सीएम के काफी करीबी माने जाते हैं। सचिन पायलट की बगावत के समय पर ही केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को भाजपा की तरफ से राज्य का सीएम बनाने का हिंट दिया गया था और ऐसे में यह बताया जा रहा है कि वह भी सीएम पद की रेस में बने हुए हैं।

राजस्थान से लोकसभा सांसद और केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल भी राजस्थान के मुख्यमंत्री पद की रेस में है। हालांकि, पार्टी की परंपरा के अनुसार संसदीय बोर्ड की बैठक में यह तय होगा कि राजस्थान का अगला मुख्यमंत्री कैसे चुना जाए अथवा किसको चुना जाए?

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd