Thursday, February 22, 2024
ई पेपर
Thursday, February 22, 2024
Home » नशे के खिलाफ एकजुट हुए डेरा ब्यास प्रमुख व मुख्यमंत्री खट्टर

नशे के खिलाफ एकजुट हुए डेरा ब्यास प्रमुख व मुख्यमंत्री खट्टर

चंडीगढ़/चन्द्र शेखर धरणी। वीरवार को राधा-स्वामी सत्संग ब्यास के आध्यात्मिक प्रमुख गुरिंदर सिंह ढिल्लों चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री निवास संत कबीर कुटीर में पहुंचे। जहां कई महत्वपूर्ण विषयों पर उनकी मुख्यमंत्री मनोहर लाल से चर्चा परिचर्चा हुई। बैठक की चर्चा में मुख्य विषय समाज में फैल रही कुरीतियों को समाप्त करना था। खास तौर पर नौजवान पीढ़ी को नशे की तरफ जाने से रोकना था।

नशे के खिलाफ एक बड़ी मुहिम छेडऩे को लेकर बातचीत हुई। मुख्यमंत्री द्वारा किए जा रहे प्रयासों पर संत गुरिंदर सिंह ढिल्लों ने सहमति जताते हुए विश्वास जताया कि वह इस कार्य को एक मिशन के रूप में लेंगे। संत ढिल्लों ने मुख्यमंत्री से बातचीत के दौरान उनका पूरा सहयोग करने और जागरुकता अभियान चलाने की बात भी कही। इस मौके पर सबसे महत्वपूर्ण देखने को यह मिला कि बाबा जी को लाने (रिसीव करने) और विदा करने (सी ऑफ) करने तक की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री के पब्लिसिटी एडवाइजर तरुण भंडारी को सौंपी गई थी।

इन दोनों शख्सियतों के बीच हुई पूरी बातचीत के दौरान भी भंडारी वहीं मौजूद रहे। जानकारी अनुसार इस बैठक के आयोजन में मुख्य किरदार निभाने वाले शख्स तरुण भंडारी ही थे। इससे पहले भी भंडारी भारतीय जनता पार्टी के लिए कई महत्वपूर्ण किरदार खुद भी निभा चुके हैं। पर्दे के पीछे रहकर लाभदायक पटकथा लिख चुके हैं भंडारी भारतीय जनता पार्टी के लिए अकेले किलेबंदी करने, कई मोर्चो पर अकेले लडऩे तथा फतेह हासिल करने वाले डा. तरुण भंडारी एक ऐसे शख्स हैं जो आज अपनी मेहनत -कर्तव्यनिष्ठा और ईमानदारी के कारण मुख्यमंत्री के बेहद विश्वसनीय व्यक्तियों में से एक है। पर्दे के पीछे रहकर यह एक ऐसी भूमिका निभाते रहे हैं जो आने वाले समय में मौजूदा सरकार के लिए बेहद लाभदायक और सुखदाई साबित होगी। गेम चेंजर की भूमिका में तरुण भंडारी भाजपा के लिए बेहद फायदे का सौदा बने हुए हैं।

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd