Wednesday, February 21, 2024
ई पेपर
Wednesday, February 21, 2024
Home » भारत-जापान की दोस्ती हुई प्रगाढ़, रक्षा उत्पादन में सहयोग बढ़ाएंगे दोनों देश

भारत-जापान की दोस्ती हुई प्रगाढ़, रक्षा उत्पादन में सहयोग बढ़ाएंगे दोनों देश

टोक्यो (उत्तम हिन्दू न्यूज)-भारत एवं जापान ने अपनी द्विपक्षीय समग्र एवं वैश्विक रणनीतिक साझीदारी के अंतर्गत आर्थिक संबंधों में प्रगति पर संतोष व्यक्त करते हुए द्विपक्षीय रक्षा एवं सुरक्षा सहयोग को रक्षा उत्पादन क्षेत्र में भी बढ़ाने पर सहमति व्यक्त की। क्वॉड शिखर बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री फूमियो किशिदा के बीच द्विपक्षीय शिखर बैठक में ये निर्णय लिये गये। किशिदा ने मोदी के सम्मान में रात्रिभोज भी आयोजित किया। दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों के विभिन्न आयामों में प्रगति तथा विभिन्न क्षेत्रीय एवं वैश्विक मुद्दों को लेकर भी चर्चा की। इनमें यूक्रेन और हिन्द प्रशांत क्षेत्र शामिल है।

दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय सुरक्षा एवं रक्षा सहयोग को विस्तार देने पर सहमति जतायी जिसमें रक्षा उत्पादन शामिल है। उन्होंने भारत एवं जापान के बीच विदेश एवं रक्षा मंत्री स्तर की टू प्लस टू बैठक जापान में जल्द आयोजित करने पर भी सहमति प्रदान की। उन्होंने दोनों देशों के बीच आर्थिक संबंधों में प्रगति की सराहना की और कहा कि दोनों पक्ष अगले पांच साल में जापान से भारत में 50 खरब येन के सरकारी एवं निजी निवेश लाने के बारे के निर्णय के क्रियान्वयन के उपाय करें।

मोदी ने भारत में कारोबारी सुगमता के लिए उठाये जा रहे कदमों, गतिशक्ति के माध्यम से लॉजिस्टिक प्रणाली मजबूत करने के बारे में चर्चा की और प्रधानमंत्री किशिदा से अनुरोध किया कि वह जापानी कंपनियों को उत्पादकता लिंक इन्सेंटिव योजना का लाभ उठाने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने बताया कि 24 जापानी कंपनियों ने इसका लाभ उठाया है। दोनों नेताओं ने मुंबई अहमदाबाद हाईस्पीड रेल परियोजना की समीक्षा की और ऋण के तीसरी किश्त को लेकर दस्तावेजों का आदान प्रदान किया। दोनों नेताओं ने सूचना एवं संचार तकनीकों की महत्ता पर चर्चा करते हुए अगली पीढ़ी की संचार तकनीक 5जी, 6 जी एवं सेमीकंडक्टरों, ग्रीन हाइड्रोजन सहित स्वच्छ ऊर्जा के विकास के लिए दोनों देशों की निजी कंपनियों के बीच सहयोग को प्रोत्साहन देने पर सहमति जतायी।

दोनों नेताओं ने जनता के बीच संपर्क को और बढ़ाने पर बल दिया। श्री किशिदा ने विशिष्ट कौशल वाले कामगारों के नियोजन संबंधी कार्यक्रम की प्रगति की समीक्षा की तथा इसे आगे बढ़ाने की बात कही। श्री मोदी ने कोवैक्सीन और कोविशील्ड वैक्सीन का प्रमाणपत्र लेकर आने वाले भारतीय यात्रियों को जापान में क्वारेंटीन मुक्त प्रवेश देने का अनुरोध किया। दोनों नेताओं ने भारत में पूर्वोत्तर में विकास परियोजनाओं को गति देने के बारे में विचार विमर्श किया। किशिदा ने मोदी को 14वें भारत जापान वार्षिक सम्मेलन के लिए पुन: जापान आने का निमंत्रण दिया जिसे श्री मोदी ने स्वीकार किया। बाद में जापानी प्रधानमंत्री ने मोदी एवं भारतीय प्रतिनिधिमंडल के सम्मान में रात्रिभोज दिया।

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd