Thursday, February 29, 2024
ई पेपर
Thursday, February 29, 2024
Home » बागबानी विभाग को नई बुलन्दियों पर ले जाने के लिए जौड़ामाजरा ने शुरू किया जिलेवार मीटिंगों का सिलसिला

बागबानी विभाग को नई बुलन्दियों पर ले जाने के लिए जौड़ामाजरा ने शुरू किया जिलेवार मीटिंगों का सिलसिला

किसान कल्याण के लिए नए प्रोजैक्ट बनाकर जल्द रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश –
चंडीगढ़/विज : पंजाब के बागबानी मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने बागबानी के क्षेत्र में राज्य को अग्रिम पंक्ति में लाने के मकसद के साथ जिलेवार मीटिंगों का सिलसिला शुरू किया है। अपनी सरकारी रिहायश में पहले पड़ाव के अंतर्गत जिला अमृतसर, गुरदासपुर, पठानकोट, तरनतारन, फिरोजपुर, फाजिल्का और कपूरथला के डिप्टी डायरैक्टरों के साथ जिलेवार मीटिंग करते हुए जमीनी स्तर पर विभाग की कारगुजारी, प्रगति, अपग्रेडेशन और दरपेश मुश्किलों की जानकारी हासिल की। कैबिनेट मंत्री ने अधिकारियों से जहां विकास के लिए नई स्कीमों के स्कोप सम्बन्धी सुझाव लिए, वहीं मौजूदा स्कीमों को लागू करने में पेश मुश्किलों का तुरंत हल निकालने के लिए भी कहा।
चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने जिला अधिकारियों को राज्य के किसानों के कल्याण हेतु नए प्रोजैक्ट बनाने और इस संबंधी रिपोर्ट जल्दी से जल्दी उनके दफ्तर में दाखिल करने के लिए कहा। कैबिनेट मंत्री ने सरकारी नरसरियों में तैयार किए पौधों, खर्च और आमदन का जायजा लिया और अधिकारियों को राज्य में फसलीय विभिन्नता लाने हेतु किसानों के लिए फायदेमंद केंद्रीय सहायता प्राप्त स्कीमों को भी अधिक से अधिक संख्या में राज्य में लागू करने सम्बन्धी योजना बनाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि बागबानी विकास सैंटर/इनक्यूबेशन सैंटर और सब-सैंटर बनाने से राज्य की तरक्की में अहम योगदान डाला जा सकता है, इसलिए इस क्षेत्र के लिए भी स्कीमें तैयार की जाएं।
कैबिनेट मंत्री ने कहा कि कृषि और किसानी से सम्बन्धित विभिन्न विभागों के साथ तालमेल करके मंडीकरण और प्रोसेसिंग के अधिक से अधिक प्रोजैक्ट तैयार किए जाएं।
जिला दफ्तरों में स्टाफ की कमी सम्बन्धी कैबिनेट मंत्री ने कहा कि बागबानी विभाग में विभिन्न पदों की तुरंत भर्ती करने सम्बन्धी पिछले समय के दौरान अधिकारियों को हिदायत की गई थी। उन्होंने कहा कि विभाग में बागबानी विकास अफसरों, बेलदारों/मालियों और चौकीदारों के लगभग 350 पदों की भर्ती की प्रक्रिया जल्दी शुरू की जाएगी।
बता दें कि अगले पड़ावों के अंतर्गत जिला जालंधर, एस.ए.एस नगर, होशियारपुर, रोपड़ की मीटिंग 29 नवंबर को रखी गई है जबकि जिला एस.ए.एस नगर, मानसा, फतेहगढ़ साहिब, पटियाला, बठिंडा और श्री मुक्तसर साहिब की मीटिंग 5 दिसंबर को और जिला संगरूर, बरनाला, मालेरकोटला, लुधियाना, मोगा और फरीदकोट की मीटिंग 6 दिसंबर को रखी गई है।

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd