Monday, February 26, 2024
ई पेपर
Monday, February 26, 2024
Home » Mission Gaganyaan Launch : गगनयान मिशन की पहली टेेस्टिंग उड़ान टली, ISRO चीफ ने बताई वजह

Mission Gaganyaan Launch : गगनयान मिशन की पहली टेेस्टिंग उड़ान टली, ISRO चीफ ने बताई वजह

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : ISRO के गगनयान मिशन के तहत पहले मानव रहित उड़ान परीक्षण को लॉन्चिंग से चंद मिनट पहले तकनीकी वजह से रोकना पड़ा। अभी इसके बारे में विस्तार से जानकारी नहीं दी गई है। इसरो प्रमुख एस सोमनाथ ने एक बयान में कहा कि गगनयान मिशन के तहत इसरो 21 अक्टूबर को सुबह व्हीकल टेस्ट फ्लाइट(TV D1) का पहला परीक्षण करने वाला था लेकिन, प्रक्षेपण से ठीक पांच सेकंड पहले तकनीकी खामी सामने आई। इंजन स्टार्ट नहीं हुआ। हमें पता लगाना होगा कि क्या गलत हुआ; वाहन सुरक्षित है।”

Gaganyaan mission postponed : इसरो आज सुबह 8 बजे ‘क्रू मॉड्यूल’ और चालक बचाव प्रणाली से लैस रॉकेट को श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र के पहले प्रक्षेपण तल से रवाना करने वाला था। हालांकि फिर परीक्षण यान डी1 मिशन के तहत लॉन्च पैड से प्रक्षेपण के समय में बदलाव कर इसे सुबह साढ़े आठ बजे कर दिया गया। समय में बदलाव किए जाने का कारण के बारे आधिकारिक रूप से तो कोई जानकारी नहीं दी गई, लेकिन सूत्रों ने बताया कि बारिश और बादल छाए रहने के कारण ऐसा किया गया होगा।

इस घोषणा के तुरंत बाद सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के मॉनिटर पर प्रदर्शित उल्टी गिनती कर रही घड़ी को हटा दिया गया। शुक्रवार शाम सात बजे से 13 घंटे की उल्टी गिनती शुरू की गई थी। परीक्षण यान मिशन का मकसद गगनयान मिशन के तहत भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को पृथ्वी पर वापस लाने के लिए क्रू मॉड्यूल और चालक बचाव प्रणाली के सुरक्षा मानकों का अध्ययन करना है।

गगनयान मिशन का लक्ष्य 2025 में तीन दिवसीय मिशन के तहत मनुष्यों को 400 किलोमीटर की ऊंचाई पर पृथ्वी की निचली कक्षा में भेजना और उन्हें सुरक्षित रूप से पृथ्वी पर वापस लाना है। इस क्रू मॉड्यूल के साथ परीक्षण यान मिशन पूरे गगनयान कार्यक्रम के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है।

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd