Tuesday, April 16, 2024
ई पेपर
Tuesday, April 16, 2024
Home » विधायक कुंवर प्रताप का आरोप

विधायक कुंवर प्रताप का आरोप

बहिबल कलां गोलीकांड मामले को लेकर पूर्व आईजी और मौजूदा अमृतसर उत्तरी आप के विधायक कुंवर विजय प्रताप सिंह ने अपनी पार्टी को ही कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि बेअदबी मामले की पैरवी उचित ढंग से नहीं हो रही। बहिबल कलां गोलीकांड मामले में फंसे पुलिस अधिकारियों के खिलाफ की जा रही जांच के स्टेट्स रिपोर्ट को पंजाब सरकार ने हाईकोर्ट को सौंप दी है। इसके साथ ही सरकार ने कहा है कि इस मामले की जांच नई विशेष जांच टीम (एसआइटी) की ओर से ठीक ढंग से की जा रही है। इस मामले में पूर्व आइजी और मौजूदा आप विधायक कुंवर विजय प्रताप सिंह ने मुख्यमंत्री भगवंत मान को पत्र लिखकर कहा है कि इस मामले की पैरवी सही ढंग से नहीं की जा रही। यही नहीं, उन्होंने हाई कोर्ट में चल रहे इस मामले में उन्हें भी पक्ष बनाए जाने की मांग की है। हाई कोर्ट में कुंवर विजय प्रताप सिंह की तरफ से उनके वकील ने अपील की कि वह (कुंवर) इस मामले में हाई कोर्ट को सहयोग करना चाहते हैं।

उन्हें मामले में अपना पक्ष रखने की इजाजत दी जाए। आम आदमी पार्टी (आप) के विधानसभा हलका उत्तरी अमृतसर से विधायक डा. कुंवर विजय प्रताप सिंह ने सीएम मान को लिखे पत्र में कहा है कि उन्हें पता चला है कि सरकार इन केसों को सही ढंग से नहीं देख रही है। फरीदकोट की सेशन कोर्ट में जो केस चल रहा है, वह भी आगे नहीं बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री को लिखे गए पत्र की कापी उन्होंने पंजाब विधानसभा के स्पीकर कुलतार सिंह संधवा और पंजाब मामलों के प्रभारी जरनैल सिंह को भी भेजी है। विधायक कुंवर ने आरोप लगाया है कि जब से पंजाब सरकार की तरफ से नई एसआइटी बनाई गई है, मामले की जांच बिल्कुल भी आगे नहीं बढ़ रही है। उन्होंने पंजाब सरकार से अपील की है कि पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में चल रहे केसों के खिलाफ खड़े हों और फरीदकोट की सेशन कोर्ट में चल रही सुनवाई को आगे बढ़ाएं। वहीं पंजाब सरकार ने अपनी स्टेटस रिपोर्ट में कहा है कि बहिबल कलां और कोटकपूरा गोलीकांड आपस में जुड़े हैं, लेकिन उसे कोटकपूरा मामले में की जा रही जांच की कापी नहीं मिल पाई है। कुछ देर चली बहस के बाद हाई कोर्ट ने अब इस मामले की सुनावई 24 मई तक स्थगित कर दी थी। उस दिन हाई कोर्ट आदेश जारी कर सकता है। गौरतलब है कि पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी ने अपने खिलाफ दाखिल चार्जशीट और बाजाखाना मामले में निलंबित आइजी परमराज उमरानंगल ने अपने खिलाफ दर्ज एफआइआर पर आगे की कार्रवाई पर रोक लगाए जाने की मांग को हाई कोर्ट में याचिकाएं दायर की हुई है।

कुंवर विजय प्रताप सिंह द्वारा पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को कोटकपूरा और बहिबल कलां मामले में चल रहे केसों की पैरवी को लेकर उठाए प्रश्नों को आधार बनाकर पंजाब भाजपा के महासचिव डा. सुभाष शर्मा ने कहा है कि कुंवर ने यह मामला नहीं उठाया बल्कि आम आदमी पार्टी पर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि जो पार्टी 24 घंटे में बेअदबी कांड में इंसाफ देने की बात कर रही थी, वह दो माह में इस दिशा में एक भी कदम नहीं चल पाई है। उन्होंने सवाल खड़े किए हैं कि ऐसा तो नहीं इस मामलेे में आम आदमी पार्टी ने कोई राजनीतिक सौदेबाजी कर ली है, जिसके कारण कुंवर विजय प्रताप सिंह को मुख्यमंत्री को पत्र लिखना पड़ा है। सुभाष शर्मा ने कहा कि आप सरकार पंजाबियों के धैर्य की परीक्षा न लें। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भगवंत मान जो कि गृह विभाग भी देख रहे हैं, पुलिस को राजनीतिक बदलाखोरी से निकाल कर बेअदबी कांड में लोगों को इंसाफ देने के लिए लगाएं। अन्यथा उनका हश्र भी वही होगा जो दूसरों का हुआ था।

बेअदबी के मामले को लेकर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी व शिरोमणि अकाली दल बादल सहित सभी सरकार विरोधियों को कुंवर विजय प्रताप ने भगवंत मान की सरकार को कटघरे में खड़ा करने का एक अवसर अवश्य प्रदान कर दिया है। पंजाब में बेअदबी के मामलों को लेकर सिख समुदाय विशेष रूप से दु:खी है और मामलों के परिणाम को लेकर चिंतित भी है। सरकार ने दावा किया है कि पूरी ताकत तथा सोच विचार के साथ उपरोक्त मामलों की पैरवी कर रही है। सरकार को भूलना नहीं चाहिए कि उनके अपने ही विधायक जिसकी साख व छवि काफी मजबूत है उसने आरोप लगाया है। यही कारण कि कुंवर विजय प्रताप की बात को समाज गंभीरता से ले रहा है। पंजाब सरकार को भी उपरोक्त मामले की गंभीरता व संवेदनशीलता को देखते हुए बेअदबी व गोलीकांड के मामलों को गंभीरता से लेना चाहिए तथा साथ ही आम आदमी तक भी यह संदेश जाना चाहिए कि सरकार मामलो को गंभीरता से ले रही है और ईमानदारी के साथ पैरवी भी कर रही है। भगवंत मान सरकार अगर कुंवर विजय प्रताप के अरोप या लिखे पत्र को गंभीरता से नहीं लेती तो आने वाले दिनों में सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

झुकते नवजोत सिद्धू

-इरविन खन्ना, मुख्य संपादक, दैनिक उत्तम हिन्दू।

 

GNI -Webinar
You Might Be Interested In

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd