Wednesday, February 21, 2024
ई पेपर
Wednesday, February 21, 2024
Home » अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव में असमी सांस्कृतिक विरासत दिखाने पर सांसद नाभा गदगद

अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव में असमी सांस्कृतिक विरासत दिखाने पर सांसद नाभा गदगद

कुरुक्षेत्र, (दुग्गल)। असम से लोकसभा सांसद नाभा कुमार सरानिया ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव 2023 में असम प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत को दिखाने का पहला अवसर सरकार की तरफ से दिया गया है। इस गीता उपदेश स्थली कुरुक्षेत्र की भूमि पर महोत्सव के दौरान असम को पार्टनर राज्य बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है।

इस पावन धरा पर ही भगवान श्री कृष्ण ने विश्व की समस्याओं का निवारण करने और सदैव सही राह पर चलने के लिए गीता के उपदेश दिए, ये उपदेश आज भी पूरी दुनिया के लिए प्रासंगिक है।

सांसद नाभा कुमार सरानिया अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव 2023 में पहुंचने पर असम के शिल्पकारों और अधिकारियों से अपने मन की भावनाओं को साझा कर रहे थे। इससे पहले सांसद नाभा कुमार सरानिया, आईसीसी एसटीडब्यूई (एमएसएमई)भारत सरकार के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुबीर पाल ने आईसीसी एसटीडब्यूई (एमएसएमई) भारत सरकार की तरफ से सिक्किम से आई शिल्पकार अनिता तमन के स्टाल नंबर 281 का रिबन काटकर उद्घाटन किया। यहां पर आईसीसी की तरफ से 280 से लेकर 290 तक लगाए गए है। इसमें कुछ आसाम से भी शिल्पकार पहुंचे है।

इसके उपरांत सांसद नाभा कुमार ने सरस और क्राफ्ट मेले का अवलोकन किया और महाआरती तीर्थ स्थल, पुरुषोत्तमपुरा बाग को देखने के बाद द्रौपदी कूप के सामने पार्टनर राज्य असम प्रदेश के लगने वाले पेवेलियन स्थल का निरीक्षण किया। सांसद ने केडीबी अधिकारियों से बातचीत करने के बाद कहा कि अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव 2023 में महोत्सव का हिस्सा बनना आसाम का सौभाग्य है। इस मौके पर एसडीएम थानेसर सुरेन्द्र पाल, जिला कल्याण अधिकारी कमल कुमार धीमान, जिला स्तरीय सतर्कता निगरानी कमेटी के सदस्य कश्मीर तंवर, राजेन्द्र कुमार आदि मौजूद रहे।

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd