Thursday, February 29, 2024
ई पेपर
Thursday, February 29, 2024
Home » पुलिस टुकडिय़ों ने आपात स्थिति से निपटने के लिए किया विशेष अभ्यास

पुलिस टुकडिय़ों ने आपात स्थिति से निपटने के लिए किया विशेष अभ्यास

करनाल/डा. हरीश चावला- पुलिस अधीक्षक करनाल शशांक कुमार सावन के निर्देशानुसार जिला करनाल में आपात स्थिति से निपटने, कानून व्यवस्था बनाए रखने एवम अपराधों की रोकथाम के लिए तुरन्त कार्रवाई करने हेतू एल्फा, ब्रावो, चार्ली व डेल्टा नाम से विशेष 04 कम्पनियों का गठन किया गया है। प्रत्येक कम्पनी में करीब सौ जवानों को नियुक्त किया गया है।

गठित की गई कम्पनियों में नियुक्त किए गए सभी जवानों को विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है। सभी कंपनियां डीएसपी रैंक के अधिकारी के अंतर्गत विशेष अभ्यास कर रही है। संभावित किसान आंदोलन को देखते हुए पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन की देख-रेख में आज पुलिस लाईन करनाल में जवानों को एन्टी रायेंट गन व बड बुलेट के फायर करवाए।

टीयर गैस टीम को विशेष परीक्षण देकर सार्ट रेंज व लोंग रेंज सैल से अभ्यास कराया गया। दंगा रोधक उपकरणों से ड्रील करवाई गई। इस विशेष अभ्यास मे ड्रोन कैमरों को भी शामिल किया गया। आज के प्रशिक्षण में स्वेट टीम, कमांडो, वज्रा, वाटर कैनन, टीयर गैस टीम, एल्फा, ब्रावो, चार्ली व डेल्टा नामक विशेष 4 कम्पनियों के पुलिसकर्मियों ने भाग लिया व इस प्रशिक्षण के दौरान पुलिस कर्मचारियों ने गैस गन फायर, टीयर गैस फायर, स्टैनसैल फायर, एन्टी रायेंट गन फायर, रबर बुलेट फायर किए व वज्रा, वाटर कैनन को भी प्रशिक्षण के दौरान शामिल किया गया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य आपात स्थिति में जान-माल की सुरक्षा करना, कानून एवम व्यवस्था बनाए रखने के लिए उचित कार्यवाही करते हुए अराजकता फैलाने, कानून एवम व्यवस्था बिगाडऩे वालों के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही कर जिले में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए और समय रहते किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए तुरन्त कार्रवाई कर उसे रोकना है।

एसपी ने कहा कि संभावित किसान आंदोलन के दौरान जिला करनाल में कानून व्यवस्था को बिगडऩे नहीं दिया जाएगा। जिला पुलिस द्वारा संभावित आंदोलन को देखते हुए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है जिसके लिए प्रयाप्त संख्या में पैरामिलिट्री फोर्स, जिला पुलिस, इंडियन रिजर्व बटालियन व आम्र्ड फोर्स के जवानों की तैनाती सभी अंतरराज्यीय व अंतर्जिला बॉर्डर पर की जाएगी। अगर कोई व्यक्ति किसी को भी आंदोलन में भाग लेने के लिए उकसाता है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd