Thursday, February 22, 2024
ई पेपर
Thursday, February 22, 2024
Home » पीएसपीसीएल ने 540 मेगावाट जीवीके थर्मल का नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया

पीएसपीसीएल ने 540 मेगावाट जीवीके थर्मल का नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया

जालंधर (उत्तम हिन्दू न्यूज) : पंजाब स्टेट पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (पीएसपीसीएल) को 540 मेगावाट के ‘गोइंदवाल थर्मल प्लांट’ का पूरा नियंत्रण मिल गया है। पावरकॉम द्वारा बैंकरों को खरीद राशि के 1080 करोड़ रुपये सौंपने के बाद थर्मल के शेयर गुरु अमरदास थर्मल प्लांट लिमिटेड को हस्तांतरित कर दिये गये हैं। पंजाब सरकार ने 1080 करोड़ रुपये में 540 मेगावाट का जीवीके गोइंदवाल थर्मल प्लांट खरीदा है, जिसे 22 दिसंबर, 2023 को हैदराबाद में नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल ने मंजूरी दे दी थी। लगभग डेढ़ महीने की प्रोसेसिंग के बाद, गोइंदवाल थर्मल औपचारिक रूप से सार्वजनिक क्षेत्र में शामिल हो गया है।

मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान 11 फरवरी को हलका खडूर साहिब की रैली के अवसर पर गोइंदवाल थर्मल प्लांट पंजाबियों को समर्पित करेंगे। बिजली सचिव तेजपुर सिंह और पीएसपीसीएल के सीएमडी बलदेव सिंह सरां ने लगभग सात महीने तक खरीद प्रक्रिया का पालन किया। उल्लेखनीय है कि पंजाब कैबिनेट ने 10 जून 2023 को गोइंदवाल थर्मल को खरीदने के लिये हरी झंडी दे दी थी। पीएसपीसीएल ने सरकार की मंजूरी के बाद जून 2023 में ही थर्मल खरीदने के लिये वित्तीय बोली लगायी थी, क्योंकि इस थर्मल को चलाने वाली कंपनी ‘जीवीके ग्रुप’ से बाहर हो गयी थी।

पीएसपीसीएल ने पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन से गोइंदवाल थर्मल प्लांट खरीदने के लिये 1080 करोड़ रुपये का कर्ज लिया है। सेंट्रल कॉरपोरेशन ने कुछ समय पहले 1080 करोड़ रुपये का कर्ज मंजूर किया था। कोयला मंत्रालय की मंजूरी के बाद अब पीएसपीसीएल अपनी पचवारा खदान से किफायती कीमत पर उपलब्ध बेहतर गुणवत्ता वाले कोयले का उपयोग करेगा। उत्पादन की परिवर्तनीय लागत मौजूदा तीन रुपये 98 पैसे प्रति यूनिट की तुलना में लगभग तीन रुपये 40 पैसे प्रति युनिट होने की संभावना है। इस अधिग्रहण से यह लगभग तीन हजार करोड़ रूपये की संभावित देनदारी/बोझ से बच जायेगा।

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd