Wednesday, February 28, 2024
ई पेपर
Wednesday, February 28, 2024
Home » पंजाब के इतिहास व विरासत को रुपमान करती झांकियों का होशियारपुर में हुआ जोरदार स्वागत

पंजाब के इतिहास व विरासत को रुपमान करती झांकियों का होशियारपुर में हुआ जोरदार स्वागत

होशियारपुर/इंद्रजीत वारिक्य : देश की स्वतंत्रता के संघर्ष में पंजाबियों के अहम योगदान ‘नारी शक्ति’ व पंजाब की अमीर विरासत को रुपमान करती झांकियां का आज देर सांय होशियारपुर पहुंचने पर शहीद भगत सिंह चौक में कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा के नेतृत्व में पुष्प वर्षा के साथ होशियारपुर वासियों की ओर से स्वागत किया गया। इस मौके पर सरकारी को-एड स्कूल घंटाघर के बच्चों की ओर से बैंड की मनमोहक धुनों पर वातावरण को महका दिया। इस अवसर पर मेयर सुरिंदर कुमार, एस.एस.पी सुरेंद्र लांबा, नगर सुधार ट्रस्ट के चेयरमैन हरमीत सिंह औलख, होशियारपुर सैंट्रल कोआप्रेटिव बैंक के चेयरमैन विक्रम शर्मा, सीनियर डिप्टी मेयर प्रवीन सैनी, डिप्टी मेयर रंजीत चौधरी, पंजाब गौसेव आयोग के सदस्य जसपाल चेची, अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर(सामान्य) राहुल चाबा, एस.डी.एम. होशियारपुर प्रीतइंदर सिंह बैंस, डी.एस.पी अमरनाथ, एडवोकेट अमरजोत सैनी व अन्य गणमान्य भी मौजूद थे।
कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने कहा कि मुख्य मंत्री भगवंत सिंह मान की ओर से पंजाब के गौरवमयी इतिहास व विरासत को दर्शाती इन झांकियों को पंजाब वासियों के रुबरु करने के लिए किया गया यह प्रयास बेहद प्रशंसनीय है। बड़ी गिनती में लोगों ने झांकियों के साथ तस्वीर खिचवाई व अपनी अमिट याद का हिस्सा बनाया। वर्णनीय है कि पंजाब के मुख्य मंत्री भगवंत सिंह मान की ओर से इन झांकियों को प्रदेश के कोने-कोने में दिखाने की घोषणा की गई थी, जिसके बाद यह झांकियों शहीद भगत सिंह नगर जिले से 6 फरवरी को देर सांय गढ़शंकर के माध्यम से होशियारपुर जिले की सीमा में दाखिल हुई, जहां गढ़शंकर में डिप्टी स्पीकर पंजाब विधान सभा जय कृष्ण सिंह रौढ़ी के नेतृत्व में इसका शानदार स्वागत किया गया। उसके बाद यह सैलाखुर्द, माहिलपुर व चब्बेवाल से होती हुई होशियारपुर शहर में दाखिल हुई है। यहां शहीद भगत सिंह चौक, सरकारी कालेज चौक, प्रभात चौक, टांडा बाईपास व नलोइयां चौक में लोग इनके रुबरु होंगे। आज रात हरियाना में स्टे करने के बाद कल यह झांकियां हरियाना, भूंगा, गढ़दीवाला, दसूहा, उच्ची बसी से होती हुई मुकेरियां पहुंचेगी व इसके बाद गुरदासपुर जिले में प्रवेश करेंगी।

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd