Saturday, April 13, 2024
ई पेपर
Saturday, April 13, 2024
Home » जिस प्रेमी के लिए पति छोड़ा, वही कोर्ट से भागा

जिस प्रेमी के लिए पति छोड़ा, वही कोर्ट से भागा

करनाल/डा. हरीश चावला- प्रेम कई बार अंधा बना देता है। बिना सोचे-समझे किए गए अंधे प्रेम के कई बार गंभीर पीरणाम भी भुगतने पड़ते हैं। ऐसा ही एक मामला करनाल में सुर्खियां बटोर रहा है। करनाल में युवती ने अपने पति को जिस प्रेमी के लिए छोड़ा था, अब वही प्रेमी उसे धोखा देकर छोड़कर फरार हो गया। इतना ही नहीं, वह युवती के पैसे और गहने भी ले गया। प्रेमी उसे कोर्ट में मैरिज रजिस्ट्रेशन के लिए लेकर गया था, लेकिन चकमा देकर गायब हो गया। अब युवती को उसका पति भी नहीं अपना रहा है। ऐसे में वह न्याय के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही है।युवती ने कहना है कि वह शादीशुदा है।

उसका अफेयर था, प्रेमी बिहार के बेगूसराय का रहने वाला है, लेकिन मौजूदा समय में करनाल में ही रहता है। वह करीब 5 साल से लिव इन रिलेशनशिप में रह रही थी। प्रेमी ने उसके साथ अवैध संबंध भी बनाए और अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल भी किया। प्रेमी ने ही मेरा घर परिवार और पति छुड़वा दिया। आरोपी प्रेमी ने झूठी शादी भी की थी। जब उसने कल यानी 30 मार्च को अपने प्रेमी को कोर्ट मैरिज के लिए कहा, वह कोर्ट तो चला गया, लेकिन वहीं से फरार हो गया।

युवती का कहना है कि उसे अपने प्रेमी पर पूरा विश्वास था कि वह उसको कभी नहीं छोड़ेगा। वादे भी किए थे, हर पल साथ रहेगा और कभी धोखा नहीं देगा, लेकिन मैंने जो विश्वास किया था, वह विश्वास तोड़ा और धोखा देकर भाग गया। अब मैं न तो इधर की रही और न ही उधर की। अब प्रेमी भी भाग गया है और पति भी अपना नहीं रहा है। अब मैं कहां जाऊं?।प्रेमिका को पहले पति से 2 बेटियां हैं और उसके बाद वह लिव इन में प्रेमी के साथ रही। जिससे उसको एक बेटा हुआ था।

करीब पांच-छह दिन पहले मामला करनाल पुलिस के पास भी पहुंचा है। जिसमें युवती के पहले पति ने पुलिस को लिखकर दिया है कि अगर उसकी पत्नी अपने प्रेमी के साथ रहना चाहती है तो रह सकती है, लेकिन पीडि़ता को अपनी गलती का अहसास हो चुका है और वह अपने पति के साथ ही रहना चाहती है।युवती का आरोप है कि वह ज्यादा पढ़ी लिखी नहीं है। वह पुलिस के पास अपनी शिकायत लेकर गई थी, लेकिन उसकी किसी ने भी सुनवाई नहीं की। वह शिकायत लिखकर एसपी को भी देने पहुंची, ताकि आरोपी के खिलाफ कार्रवाई हो सके।

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd