Wednesday, February 21, 2024
ई पेपर
Wednesday, February 21, 2024
Home » खड्डी में बनी दरियां भी हैं आकर्षण का केन्द्र

खड्डी में बनी दरियां भी हैं आकर्षण का केन्द्र

कुरुक्षेत्र, (दुग्गल)। विरासत बैक टू रुटस एजैंसी 300 शिल्पकारों को स्वावलंबी बनाने का प्रयास कर रही है। यह एजैंसी शिल्पकारों को प्रशिक्षण के लिए भी आर्थिक रुप से प्रोत्साहित करती है। एजैंसी जहां प्रदेश की प्राचीन संस्कृति को सहजने का काम कर रही है, वहीं प्राचीन शिल्पकला को भी सरंक्षण दे रही है।

इस एजैंसी ने अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव-2023 में भी प्राचीन उत्पादों को पर्यटकों के लिए सजाया है। अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव-2023 में स्टाल नंबर 111 और अन्य स्टालों पर भी खड्डी से बनी दरियों और अन्य उत्पादों को सजाया गया है। ये पर्यटकों को खूब आकर्षित कर रही हैं। इस स्टाल पर विरासत बैक टू रुटस के शिल्पकार हरियाणा के गांव रायपुर रानी से पवन कुमार ने दरियों और अन्य उत्पादों को रखा है। स्टाल पर दरी, जूट बैग, बैड रनर रखे है और उत्पादों की कीमत 150 रुपए से लेकर 1200 रुपए रखी गई हैं। फोटो परिचय-8केयूके10

GNI -Webinar

@2022 – All Rights Reserved | Designed and Developed by Sortd